धामी कैबिनेट की बैठक समाप्त, 20 महत्वपूर्ण फैसलों पर लगी मुहर  

ख़बर शेयर करें -

खबर सच है संवाददाता

देहरादून। धामी कैबिनेट की बैठक हुई समाप्त। बैठक मे ये महत्वपूर्ण फैसले किए गए 20 मामले आएं हैं।

कैबिनेट मे सचिवालय प्रशासन के मामले मे सचिवालय सुरक्षा सेवा नियमवली क़ो लेकर संसोधन किया गया हैं।

गृह विभाग के बंदियों के 15 दिनों का पैरोल अब जिला अधिकारी दें सकेंगे, बीमारी, घर निर्माण के लिए भी पैरोल 12 माह के लिए होगा।

उद्योग विकास 5 सड़को क़ो मेंटेन कर रहा था अब लो नि वी क़ो हस्ताँतरित किया गया हैं उधमसिंहनगर की हैं सड़के।

यूनिवर्सिटी ऑफ़ इंजिनियरिंग रुड़की का नाम अब कोर यूनिवर्सिटी होगा।

20 आईटीआई क़ो मॉडल आईटीआई बनाया जाएगा।

परिवहन विभाग शहरी इलाकों मे सिटी बसों के मोटर यान कर मे शत प्रतिशत छूट पहाड़ी इलाकों मे 75 प्रतिशत छूट।

निशक्त जनो क़ो स्टाम्प शुल्क मे 25 प्रतिशत की छूट का प्रावधान जमीन खरीदने के लिए लेकिन केवल 2 बार ही ये इसका लाभ लें सकेंगे।

रेलवे विभाग की जमीनों क़ो लेकर भी संशोधन किया गया हैं अब उनकी जमीनों मे राज्य के नियम आड़े नहीं आएंगे।

ऊर्जा विभाग की नई नवीन जल विधुत नीति हुई।

पर्यटन विभाग मास्टर प्लान अब INI संस्था जागेश्वर और महासू देवता का मास्टर प्लान तैयार किया जाएगा।

विधानसभा का सत्र अवसन की अनुमति दे दी गई है।

कैबिनेट मे लोजिस्टिक पालिसी लाई गई ware हॉउस के निर्माण क़ो लेकर समेत तमाम बुनियादी सुविधाओं क़ो लेकर नीति आई।

अगर इन पर रोक नहीं लगाई गई, तो जल्द ही भारत में हिंदू अल्पसंख्यक हो जाएंगे। सांसद ने कहा कि देश में काला जादू, अंधविश्वास,चमत्कार आदि के जरिये जबरन धर्म परिवर्तन की घटनाएं हर हफ्ते सामने आती हैं तथा एक भी जिला ऐसा नहीं है,जो धोखाधड़ी व धमकी से हो रहे धर्मांतरण से मुक्त हो।

सांसद राज्य सभा नरेश बंसल ने संसद मे कहा कि धर्म की आजादी हो सकती है, लेकिन जबरन धर्म परिवर्तन की कोई स्वतंत्रता नहीं है। सासंद बंसल ने सदन का ध्यान आकर्षित किया कि आदिवासी बहुल इलाकों में ऐसे धर्मांतरण बहुतायत में होते हैं तथा उन्हें पता ही नहीं होता कि उनके साथ क्या हो रहा है और ये सब मदद के नाम पर होता है।

सांसद राज्य सभा नरेश बंसलने कहा कि मुद्दा किसी एक जगह से जुड़ा नहीं है, बल्कि पूरे देश की समस्या है जिस पर तुरंत ध्यान देने की जरूरत है। सांसद ने सदन मे कहा कि फिलहाल देश में जबरन धर्मांतरण रोकने के लिए कोई कानून नहीं है, लेकिन उत्तराखंड समेत कई राज्यों में इसे लेकर कानून है।

भारत के पड़ोसी देशोंपाकिस्तान, नेपाल, म्यांमार, श्रीलंका और भूटान में में जबरन धर्मांतरण के खिलाफ कानून हैं।सांसद ने कहा कि संसद में 3 बार हुए धर्मांतरण क़ानून पास कराने की कोशिश हो चुकी है तथा 2015 में तत्कालीन बीजेपी अध्यक्ष व अभी के माननीय गृह मंत्री श्री अमित शाह जी ने राष्ट्रव्यापी स्तर पर धर्मांतरण निरोधक कानून बनाने पर जोर दिया था।

सासंद राज्य सभा नरेश बंसल ने सरकार से मांग करते हुए इसे एक बेहद गंभीर मामला बताया व बताया कि फिलहाल भारत देश में जबरन धर्मांतरण रोकने के लिए कोई कानून नहीं है, इसलिए देशव्यापी कानून बनाने के लिए तुरंत आवश्यकता है।

लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट पाने के लिए -

👉 हमारे समाचार ग्रुप (WhatsApp) से जुड़ें

👉 हमसे फेसबुक पर जुड़ने के लिए पेज़ को लाइक करें

👉 ख़बर सच है से टेलीग्राम (Telegram) पर जुड़ें

👉 हमारे पोर्टल में विज्ञापन एवं समाचार के लिए कृपया हमें [email protected] पर ईमेल करें या +91 97195 66787 पर संपर्क करें।

TAGS: 20 important decisions sealed dehradun news Dhami cabinet meeting ends Uttrakhand news

More Stories

उत्तराखण्ड

देर रात बनभूलपुरा थाना क्षेत्र में आग लगने से कई झोपड़ियां हुई राख 

ख़बर शेयर करें -

ख़बर शेयर करें –  खबर सच है संवाददाता   हल्द्वानी। यहां देर रात बनभूलपुरा थाना क्षेत्र के अंतर्गत रेलवे क्रॉसिंग के पास कई झोपड़ियां भीषण आग लगने से राख हो गई। सूचना पर पहुंची फायर ब्रिगेड की गाड़ियों ने आग को काबू किया।     प्राप्त जानकारी के अनुसार रेलवे क्रॉसिंग के पास चिराग अली […]

Read More
उत्तराखण्ड

कुल 59.10 प्रतिशत मतदान के साथ नैनीताल जिले में शांतिपूर्वक, निष्पक्ष एवं पारदर्शिता के साथ मतदान प्रक्रिया हुई सम्पूर्ण

ख़बर शेयर करें -

ख़बर शेयर करें – खबर सच है संवाददाता नैनीताल। मतदान संपन्न होने के बाद जिले की 1010 पोलिंग पार्टियों के वापिस आने का सिलसिला जारी होने के साथ ही कल सुबह तक दूरस्थ क्षेत्र के पोलिंग पार्टियों भी यहां पहुंच जायेगी। इसके अलावा सभी पोलिंग पार्टियों द्वारा एवं रिसीव करने के बाद सुबह स्ट्रांग रूम […]

Read More
उत्तराखण्ड

बूथ पर न होकर घर पर लेटे नशे में टल्ली अधिकारी के खिलाफ मुकदमा दर्ज   

ख़बर शेयर करें -

ख़बर शेयर करें – खबर सच है संवाददाता कोटद्वार। यहां कोतवाली में एक मतदान अधिकारी के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है। सेक्टर मजिस्ट्रेट जुनिश कुमार की तरफ से दी गई तहरीर में कहा गया कि अधिकारी बूथ पर न होकर अपने घर पर नशे में थे। प्राप्त जानकारी के अनुसार तहरीर में कहा गया […]

Read More