फर्जी सूबेदार बनकर अग्निवीर भर्ती के नाम पर ठगी करने वाले गिरोह के सरगना को पुलिस ने किया गिरफ्तार 

ख़बर शेयर करें -

 

जसपाल सिंह, खबर सच है संवाददाता, उधमसिंह नगर

रुद्रपुर। ऊधमसिंह नगर पुलिस ने अग्निवीर भर्ती के नाम पर ठगी करने वाले गिरोह का सरगना गिरफ्तार कर लिया है। अभियुक्त ने फर्जी आर्मी सूबेदार बनकर कई लोगों से लाखों रुपए की ठगी कर ली। आरोपी के कब्जे से डिफेंस लिखी ऑल्टो कार, आर्मी का फर्जी आईकार्ड, फर्जी लिकर कार्ड बरामद बरामद हुआ है। इसके पास से बच्चों से नौकरी दिलाने के नाम पर लिए 26 चेक व 12 डेबिट और क्रेडिट कार्ड भी बरामद हुए हैं। ऊधमसिंह नगर पुलिस पूर्व में दो आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेज चुकी है। एसएसपी उधमसिंहनगर ने पुलिस टीम को 2500 रुपए के ईनाम की घोषणा की है।

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक मंजूनाथ टीसी ने बताया कि तीन नवम्बर 2022 को तपस मण्डल पुत्र गोबिन्द मण्डल निवासी प्रतापपुर नम्बर 04 थाना नानकमत्ता जनपद उधम सिंह नगर द्वारा तहरीर देकर कहा कि विक्की मण्डल पुत्र प्यारे लाल मण्डल निवासी वार्ड नम्बर 01 देवनगर, शक्तिफार्म थाना सितारगंज जिला उधम सिंह नगर तथा पंकज सिंह बडेला पुत्र उत्तम सिंह निवासी मछियाड थाना रीठा साहिब जनपद चम्पावत द्वारा आर्मी में भर्ती कराने के नाम पर खुद के व अन्य लोगों के ऑरिजनल प्रमाण पत्र व 5050 हज़ार रुपये नकद लेने तथा भर्ती न होने पर अपने रुपये व प्रमाण पत्र वापस मांगने पर दो नवम्बर 2022 को जयनगर दिनेशपुर बुलाकर गाली गलौच, मारपीट करने व तमंचा दिखाकर रुपये व प्रमाण पत्र वापस मांगने पर जान से मारने की धमकी देने व जालसाजी धोखाधड़ी करने सम्बन्धित दाखिल की। तहरीर के आधार पर धारा 420/323/504/506 भादवि का अभियोग पंजीकृत किया गया। पुलिस टीम द्वारा चार नवम्बर 2022 को मुखबिर की सूचना पर जगदीशपुर मोड दिनेशपुर से नामजद अभियुक्तगण विक्की मण्डल पुत्र प्यारे लाल मण्डल निवासी वार्ड नम्बर 01 देवनगर, शक्तिफार्म थाना सितारगंज जिला उधम सिंह नगर तथा पंकज सिंह पुत्र उत्तम सिंह निवासी मछियाड धाना रीठा साहिब जनपद चम्पावत को गिरफ्तार किया गया था। दोनों वर्तमान में उपकारागार हल्द्वानी में निरुद्ध है तथा प्रकरण में सरगना सुबेदार गोविंद सिंह नवाल फरार चल रहा था जिसकी तलाश हेतु पुलिस टीमें लगातार प्रयासरत थी। प्रकरण की गम्भीरता को दृष्टिगत रखते हुए वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक द्वारा फरार अभियुक्त को शीघ्र अतिशीघ्र गिरफ्तार करने हेतु निर्देशित किया गया। जिस पर पुलिस अधीक्षक नगर व क्षेत्राधिकारी पन्तनगर के मार्गदर्शन में व थानाध्यक्ष दिनेशपुर के कुशल निर्देशन मे पुलिस टीम द्वारा फरार अभियुक्त सूबेदार गोबिन्द सिंह नयाल की गिरफ्तारी हेतु लगातार सुरागरसी पतारसी करते हुए रानीखेत अल्मोडा, बरेली आदि स्थानों पर दबिश दी गई। शातिर अभियुक्त लगातार अपना ठिकाना बदलता रहा मुखबिर द्वारा सूचना मिली की सूबेदार गोबिन्द सिंह नयाल अभी काठगोदाम क्षेत्र रुका है तो पुलिस टीम द्वारा तुरन्त बरेली से वापस काठगोदाम हल्द्वानी आकर हल्द्वानी मे ब्रजलाल अस्पताल के पास से दिनांक 21 अप्रैल की रात्रि को अभियुक्त सूबेदार गोबिन्द सिंह नयाल पुत्र पान सिंह नयाल निवासी ग्राम नाई गाव शहरफाटक थाना मुक्तेश्वर जिला नैनीताल उम्र 36 वर्ष को मय अल्टो कार यूके-04 एबी-9273 (जिसमे आगे व पीछे डिफैंस लिखा है) के साथ गिरफ्तार कर लिया। अभियुक्त के गले मे लटका हुआ आर्मी का पहचान पत्र, पर्स से आधार कार्ड, विभिन्न बैंको के 12 क्रेडिट कार्ड, कैन्टीन कार्ड व 02 अदद मोबाईल फोन, बैग के अन्दर 05 व्यक्तियों के मूल तथा 05 व्यक्तियो के फोटो स्टैट शैक्षिक दस्तावेज, 08 व्यक्तियों के अग्निवीर मैन परीक्षा के एडमिट कार्ड, 02 व्यक्तियों के अग्निवीर के मेडिकल रेफरल कार्ड मय अन्य कागजात, 01 अदद डायरी, 26 चैक विभिन्न बैंको के आदि बरामद हुए।

अभियुक्त द्वारा पूछताछ में बताया कि वह आर्मी में नही है परन्तु अपने आप को आर्मी में सूबेदार बताकर अपने साथी विक्की मण्डल तथा पंकज सिंह जो पूर्व में गिरफ्तार किये जा चुके है के साथ मिलकर नवयुवको को सेना में भर्ती कराने के नाम पर उनके शैक्षिक दस्तावेज तथा चैक प्राप्त कर अपने पास रख लेता था जो युवक अपनी मेहनत से आर्मी में भर्ती हो जाते थे उनसे और अधिक रुपये प्राप्त कर लेता था तथा जो युवक भर्ती होने से रह जाते थे उनको अगली भर्ती में भर्ती कराने का आश्वासन दे देता था। अभियुक्त द्वारा सूबेदार के पद पर नियुक्त न होना तथा बेरोजगार युवको को आर्मी में भर्ती कराने के नाम पर स्वयं के झांसे मे लेने के लिए स्वयम् को सूबेदार के रुप मे प्रस्तुत करना तथा इसी प्रयोजन हेतु अपने वाहन मे डिफैंस अंकित करना व सूबेदार गोबिन्द सिंह नवाल के नाम से आर्मी पहचान पत्र बनाकर प्रतिरूपण द्वारा छल कर धोखाधडी करना पाया गया। जिस कारण अभियोग में धारा 140/419 भा0द0वि0 की वृद्धि की गयी। अभियुक्त को अग्रिम कार्यवाही हेतु न्यायालय के समक्ष प्रस्तुत किया जा रहा है। इसके पास से फर्जी आर्मी पहचान पत्र, आधार कार्ड, पैन कार्ड, मारुति आल्टो कार, 05 व्यक्तियों के मूल तथा 05 व्यक्तियों के फोटो स्टेट शैक्षिक दस्तावेज, 08 व्यक्तियों के अग्निवीर मैन परीक्षा के एडमिट कार्ड, 02 व्यक्तियों के अग्निवीर के मेडिकल रेफरल कार्ड मय अन्य कागजात, विभिन्न बैंको के 26 चैक (40 लाख 95 हजार रुपये के) विभिन्न बैंको के 12 क्रेडिट कार्ड भी बरामद किए गए।

लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट पाने के लिए -

👉 हमारे समाचार ग्रुप (WhatsApp) से जुड़ें

👉 हमसे फेसबुक पर जुड़ने के लिए पेज़ को लाइक करें

👉 ख़बर सच है से टेलीग्राम (Telegram) पर जुड़ें

👉 हमारे पोर्टल में विज्ञापन एवं समाचार के लिए कृपया हमें [email protected] पर ईमेल करें या +91 97195 66787 पर संपर्क करें।

TAGS: Police arrested the leader of the gang who cheated in the name of Agniveer recruitment by posing as a fake subedar US nagar news Uttrakhand news

More Stories

उत्तराखण्ड

पति-पत्नी के बीच रक्त-रंजीत संघर्ष में पत्नी ने तवे और फंटी से कर दी पति की हत्या 

ख़बर शेयर करें -

ख़बर शेयर करें – खबर सच है संवाददाता  बाजपुर। पति-पत्नी के बीच बुधवार रात करीब ढाई बजे हुए रक्त-रंजीत संघर्ष का रूप ले लिया। आत्मरक्षा में पत्नी ने पास में रखे तवे और लकड़ी की फंटी से पति के सिर पर जोरदार वार कर दिए, जिससे पति की मौत हो गई। गुरुवार को पुलिस ने […]

Read More
उत्तराखण्ड

दुष्कर्म की शिकार नाबालिग किशोरी ने बच्चे को दिया जन्म, पुलिस ने आरोपी के खिलाफ पॉक्सो में किया मुकदमा दर्ज  

ख़बर शेयर करें -

ख़बर शेयर करें – खबर सच है संवाददाता    चम्पावत। जिले के लोहाघाट शहर में एक नाबालिग किशोरी ने दुष्कर्म के बाद बच्चे को जन्म दिया है। परिजनों की तहरीर के बाद पुलिस ने आरोपी के खिलाफ पॉक्सो सहित कई धाराओं में मुकदमा दर्ज किया है।       थाना प्रभारी निरीक्षक अशोक कुमार ने […]

Read More
उत्तराखण्ड

विजिलेंस ने रिश्वतखोर अधिशासी अभियंता के घरो की तलाशी से बरामद किए 23.97 लाख रुपए 

ख़बर शेयर करें -

ख़बर शेयर करें – खबर सच है संवाददाता    हल्द्वानी। रिश्वत लेने के आरोपी लघु सिंचाई खंड नैनीताल के अधिशासी अभियंता कृष्ण सिंह कन्याल को विजिलेंस ने बुधवार देर रात गिरफ्तार किया था। जिसके बाद उसके घरों की तलाशी लेने पर विजिलेंस को 23.97 लाख रुपए बरामद हुए हैं। आरोपित को आज कोर्ट में पेश […]

Read More