चाय बागान की विवादित जमीन अब सरकारी सम्पत्ति में होगी मर्ज, जमीन की खरीद-फरोख्त से सम्बंधित लोगों को नोटिस जारी  

ख़बर शेयर करें -

 खबर सच है संवाददाता

देहरादून। चाय बागान की जमीन की खरीद- फरोख्त करने वाले भूमाफिया पर प्रशासन ने शिकंजा कसना शुरू कर दिया है। अपर जिलाधिकारी डा. शिव कुमार बरनवाल ने विवादित भूमि को लेकर संबंधित लोगों को नोटिस जारी किये हैं। इस संबंध में जमीन की खरीद-फरोख्त करने वाले लोगों को 11 अगस्त को अदालत में तलब किया गया है। 

आरटीआई एक्टिविस्ट एडवोकेट विकेश नेगी ने जिला प्रशासन के इस कदम पर संतोष जताया है। उन्होंने कहा कि चाय बागान की भूमि को खुर्द- बुर्द करने वाले लोगों पर सख्त कार्रवाई होनी चाहिए। अपर जिलाधिकारी डॉ शिव कुमार बरनवाल चाय बागान और सीलिंग की जमीन की खरीद- फरोख्त मामले की सुनवाई कर रहे हैं। अदालत ने चाय बागान की भूमि खरीदने वाले विनोद कुमार और दीपचंद अग्रवाल को 11 अगस्त को भूमि संबंधी सभी दस्तावेजों के साथ अदालत में तलब किया है। यह विवादित भूमि रायपुर की खसरा नंबर 1586 है। डॉ बरनवाल ने एसडीएम ऋषिकेश और एसडीएम विकास नगर को आदेश दिये हैं कि ढकरानी, आर्केडिय और रायवाला में जो सीलिंग की जमीन है, उसका नया और पुराना पूरा रिकार्ड दिया जाए। एक जून को एसडीएम और तहसीलदार को लाडपुर के पर्ल व्यू की रिपोर्ट तीन दिन में देने के लिए कही थी, लेकिन दो महीने बाद भी यह रिपोर्ट नहीं दी गयी है। एडवोकेट विकेश नेगी का कहना है कि इस तरह से तो सरकारी जमीन नहीं बचेगी। अधिकारी ही लापरवाही कर रहे हैं। दरअसल आरटीआई एक्टिविस्ट एडवोकेट विकेश नेगी ने पिछले साल हाईकोर्ट में एक जनहित याचिका दायर की थी कि देहरादून में चाय बागान की जमीन की खरीद-फरोख्त चल रही है जो कि गैरकानूनी है। सुप्रीम कोर्ट का आदेश है कि 10 अक्टूबर 1975 के बाद चाय बागान की जमीन की खरीद-फरोख्त नहीं की जा सकती है। यदि ऐसा होता है तो यह जमीन स्वतः ही सरकार की हो जाएगी। एडवोकेट नेगी के अनुसार रायपुर, रायचकपुर, लाडपुर और नत्थनपुर समेत जिले में चाय बागान की सीलिंग की जमीन को खुर्द-बुर्द किया जा रहा है। इस मामले में देहरादून अपर जिलाधिकारी की कोर्ट में भी सुनवाई चल रही है। इस मामले को लेकर जिला प्रशासन भी लचर रवैया अपनाए हुए था। लेकिन अब सरकार ने इस मामले को गंभीरता से लिया है और 1978 से 1990 के भू रिकार्ड के साथ छेड़छाड़ की बात को स्वीकार किया है। कई बैनामों के पेपर बीच में से फाड़ दिये गये हैं। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने इस मामले की जांच के आदेश एसआईटी को दिये हैं। कोतवाली पुलिस में केस दर्ज किया गया है। इस मामले में नौ सब रजिस्ट्रार और 28 लिपिक जांच के घेरे में हैं।  

यह भी पढ़ें 👉  आयरन लेडी स्वर्गीय इंदिरा हृदयेश की तृतीय पुण्यतिथि! श्रद्धांजली में आमजन के साथ ही पहुंचे प्रतिनिधी एवं  सामाजिक कार्यकर्ता

मामले को उजागर करने वाले अधिवक्ता और आरटीआई एक्टिविस्ट विकेश नेगी ने कहा कि इस मामले में निबंधन और राजस्व विभाग के अफसरों की मिलीभगत है और इसके तार पूरे उत्तर भारत में फैले हुए हैं। इस प्रकरण में भूमाफिया के साथ ही अफसर और नेता भी शामिल हैं। उन्होंने कहा कि जरूरत होगी तो इस मामले में हाईकोर्ट में जनहित याचिका दायर की जाएगी।

यह भी पढ़ें 👉  विश्व प्रसिद्ध संत बाबा नीब करोली के दर्शन को उमड़ा भक्तों का सैलाब 

लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट पाने के लिए -

👉 हमारे समाचार ग्रुप (WhatsApp) से जुड़ें

👉 हमसे फेसबुक पर जुड़ने के लिए पेज़ को लाइक करें

👉 ख़बर सच है से टेलीग्राम (Telegram) पर जुड़ें

👉 हमारे पोर्टल में विज्ञापन एवं समाचार के लिए कृपया हमें [email protected] पर ईमेल करें या +91 97195 66787 पर संपर्क करें।

TAGS: dehradun news Disputed land of tea garden Disputed land of tea garden will now be merged in government property notice issued to people related to purchase and sale of land Uttrakhand news

More Stories

उत्तराखण्ड

चारधाम यात्रा पर टेंपो ट्रैवलर के नदी में गिरने से आठ यात्रियों की हुई  

ख़बर शेयर करें -

ख़बर शेयर करें –      खबर सच है संवाददाता    रुद्रप्रयाग। यहां  चारधाम यात्रा पर निकले तीर्थ यात्रियों से भरा एक टेंपो ट्रैवलर नदी में गिरने से आठ यात्रियों ककी मौत हो गईं।  हादसे में राहत व बचाव कार्य जारी है।     वाले तीर्थ यात्री थे। प्राप्त जानकारी के अनुसार.यूपी के नोएडा के […]

Read More
उत्तराखण्ड

उद्यान घोटाला! आठ करोड़ रुपये से ज्यादा के हेर-फेर में पूर्व निदेशक सहित 18 लोगो के खिलाफ मुकदमा  दर्ज 

ख़बर शेयर करें -

ख़बर शेयर करें –          खबर सच है संवाददाता    देहरादून। उद्यान विभाग में फलदार पौधों की खरीद फरोख्त में आठ करोड़ रुपये से ज्यादा का घोटाला पाया गया है। यह रकम पौधों की दरों में मनमाने तरीके से बढ़ोतरी कर सब्सिडी के रूप में इधर से उधर की गई है। यही […]

Read More
उत्तराखण्ड शिक्षा-आध्यात्म

विश्व प्रसिद्ध संत बाबा नीब करोली के दर्शन को उमड़ा भक्तों का सैलाब 

ख़बर शेयर करें -

ख़बर शेयर करें –    खबर सच है संवाददाता      भवाली। हनुमान जी के परम भक्त और उनके अवतार माने जाने वाले नीब करोली बाबा विश्व के प्रसिद्ध संतों में से एक है। मान्यता है कि नीम करोली बाबा को हनुमान जी की उपासना से अनेक चमत्कारिक सिद्धियां प्राप्त थीं। नीब करोली बाबा के […]

Read More