सीबीआई कोर्ट ने हॉर्स ट्रेडिंग मामले में पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत सहित डॉ. हरक सिंह रावत, मदन सिंह बिष्ट और उमेश कुमार को नोटिस जारी करने के दिए आदेश 

ख़बर शेयर करें -

 

खबर सच है संवाददाता

देहरादून। वर्ष 2016 में सामने आए चर्चित विधायक हॉर्स ट्रेडिंग मामले में कोर्ट ने पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत, पूर्व मंत्री डॉ. हरक सिंह रावत, कांग्रेस विधायक मदन सिंह बिष्ट और स्टिंग ऑपरेशन से जुड़े निर्दलीय विधायक उमेश कुमार को नोटिस जारी करने के आदेश दिए हैं। सीबीआई ने इन चारों के वॉयस सैंपल लेने की अनुमति के लिए कोर्ट में प्रार्थना पत्र दिया था। जिस पर कोर्ट ने नोटिस जारी करने के आदेश दिए हैं।

विशेष न्यायाधीश सीबीआई धर्मेंद्र सिंह अधिकारी की कोर्ट में दून में इसकी सुनवाई 20 जून को हुई थी। सीबीआई की ओर से अभियोजन अधिकारी सियाराम मीना और सीबीआई इंस्पेक्टर सुशील कुमार वर्मा की ओर से कोर्ट में प्रार्थना पत्र पेश किया गया। जिसमें उन्होंने चारों नेताओं के वॉयस सैंपल लेने की अनुमति देने के निर्देश देने की अपील करते हुए बताया कि आठ जून को इन्हें नोटिस जारी किए गए, लेकिन अभी तक नोटिस तामिल नहीं हुए हैं।जिस पर कोर्ट ने इन्हें फिर से नोटिस जारी करने के साथ ही सीबीआई को इसकी पैरवी करने के निर्देश दिए। चार नेताओं में से दो मौजूदा विधायक हैं, जिससे कोर्ट ने दोनों विधायकों को नोटिस तामिल करने के लिए तय प्रक्रिया का पालन करने के निर्देश भी दिए। मामले में अगली सुनवाई चार जुलाई को होगी। सीबीआई ने दून शाखा के बजाए एनसीआर में यह मामला दर्ज किया था। सुनवाई के लिए भी वहां की टीम कोर्ट में उपस्थित हो रही है।

यह भी पढ़ें 👉  रुद्रपुर-किच्छा रोड पर कबाड़ की दुकानों में लगी आग, फायर ब्रिगेड की टीम जुटी आग बुझाने में 

ज्ञात हो कि वर्ष 2016 में हरीश रावत के मुख्यमंत्री रहते हुए उनका एक स्टिंग करने का दावा उमेश कुमार ने किया था। इसके बाद राज्य की राजनीति में भूचाल आ गया था। इसी दौरान एक और स्टिंग सामने आया था, इसमें विधायक मदन सिंह बिष्ट के होने का दावा किया गया। इसमें डॉ. हरक सिंह रावत के भी शामिल होने का दावा किया गया था। दोनों ही स्टिंग के बारे में उमेश कुमार ने दावा किया था कि हरीश रावत सरकार को बचाने के लिए विधायकों की खरीद-फरोख्त की डीलिंग की जा रही थी। इसमें रुपयों के लेन-देन होने की बात का दावा भी स्टिंग प्रसारण के दौरान किया गया था। बाद में इस पूरे मामले की जांच सीबीआई को दे दी गई थी। स्टिंग में जो आवाजें हैं उनके मिलान के लिए इन चारों ही नेताओं के वॉयस सैंपल लेने की अनुमति सीबीआई ने अदालत से मांगी है।

लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट पाने के लिए -

👉 हमारे समाचार ग्रुप (WhatsApp) से जुड़ें

👉 हमसे फेसबुक पर जुड़ने के लिए पेज़ को लाइक करें

👉 ख़बर सच है से टेलीग्राम (Telegram) पर जुड़ें

👉 हमारे पोर्टल में विज्ञापन एवं समाचार के लिए कृपया हमें [email protected] पर ईमेल करें या +91 97195 66787 पर संपर्क करें।

TAGS: CBI court orders to issue notice to former Chief Minister Harish Rawat including Dr. Harak Singh Rawat cbi news dehradun news Madan Singh Bisht and Umesh Kumar in horse trading case Uttrakhand news

More Stories

उत्तराखण्ड

चारधाम यात्रा पर टेंपो ट्रैवलर के नदी में गिरने से आठ यात्रियों की हुई  

ख़बर शेयर करें -

ख़बर शेयर करें –      खबर सच है संवाददाता    रुद्रप्रयाग। यहां  चारधाम यात्रा पर निकले तीर्थ यात्रियों से भरा एक टेंपो ट्रैवलर नदी में गिरने से आठ यात्रियों ककी मौत हो गईं।  हादसे में राहत व बचाव कार्य जारी है।     वाले तीर्थ यात्री थे। प्राप्त जानकारी के अनुसार.यूपी के नोएडा के […]

Read More
उत्तराखण्ड

उद्यान घोटाला! आठ करोड़ रुपये से ज्यादा के हेर-फेर में पूर्व निदेशक सहित 18 लोगो के खिलाफ मुकदमा  दर्ज 

ख़बर शेयर करें -

ख़बर शेयर करें –          खबर सच है संवाददाता    देहरादून। उद्यान विभाग में फलदार पौधों की खरीद फरोख्त में आठ करोड़ रुपये से ज्यादा का घोटाला पाया गया है। यह रकम पौधों की दरों में मनमाने तरीके से बढ़ोतरी कर सब्सिडी के रूप में इधर से उधर की गई है। यही […]

Read More
उत्तराखण्ड शिक्षा-आध्यात्म

विश्व प्रसिद्ध संत बाबा नीब करोली के दर्शन को उमड़ा भक्तों का सैलाब 

ख़बर शेयर करें -

ख़बर शेयर करें –    खबर सच है संवाददाता      भवाली। हनुमान जी के परम भक्त और उनके अवतार माने जाने वाले नीब करोली बाबा विश्व के प्रसिद्ध संतों में से एक है। मान्यता है कि नीम करोली बाबा को हनुमान जी की उपासना से अनेक चमत्कारिक सिद्धियां प्राप्त थीं। नीब करोली बाबा के […]

Read More