उपचार बिलों में फर्जी वाड़ा पर राज्य के 10 अस्पतालों को निदेशालय, कर्मचारी राज्य बीमा योजना, श्रम चिकित्सा सेवाएं उत्तराखंड ने हटाया अधिकृत सूची से  

ख़बर शेयर करें -

उपचार बिलों में फर्जी वाड़ा पर राज्य के 10 अस्पतालों को

खबर सच है संवाददाता 

 

देहरादून। अस्पतालों में मरीजों के उपचार के नाम पर बिलों में हेरा फेरी का बड़ा घोटाला सामने आया है। फर्जी वाड़ा करने के मामले में राज्य के 10 अस्पतालों को  निदेशालय, कर्मचारी राज्य बीमा योजना, श्रम चिकित्सा सेवाएं उत्तराखंड ने अधिकृत सूची से हटा दिया है।

 

प्राप्त जानकारी के अनुसार हल्द्वानी, देहरादून, रुड़की, काशीपुर समेत उत्तराखंड के यह 10 चिकित्सा संस्थान मरीजों के उपचार में चिकित्सा प्रतिपूर्ति दावों/बिलों में गड़बड़ी कर रहे थे। कर्मचारी राज्य बीमा योजना की निदेशक दीप्ति सिंह ने 4 मई को आदेश जारी कर फर्जीवाड़ा कर रहे इन दस अस्पतालों को निलम्बित कर दिया।

निदेशालय, कर्मचारी राज्य बीमा योजना, श्रम चिकित्सा सेवाएं, उत्तराखण्ड के अन्तर्गत आच्छादित बीमांकितों एवं उनके आश्रितों को द्वितीयक स्तरीय चिकित्सकीय सुविधायें प्रदान कराये जाने के उद्देश्य से नगद रहित योजना के तहत निर्धारित नियम एवं शर्तों के अधीन निजी चिकित्सा संस्थानों को अनुबन्धित किया गया है। वित्तीय वर्ष 2023-24 में अनुबन्धित चिकित्सा संस्थानो के द्वारा यू.टी.आई. पोर्टल पर जमा किये गये देयकों की समीक्षा उपरांत संज्ञान में आया है कि कतिपय अनुबन्धित चिकित्सा संस्थानों से प्राप्त चिकित्सा प्रतिपूर्ति दावों में भर्ती के मामलों में आने वाले उपचार का व्यय सामान्य से कहीं अधिक है, जिनका विवरण निम्नवत् हैः-

उपरोक्त निजी चिकित्सा संस्थानों के सम्बन्ध में सम्यक विचारोंपरान्त यह निर्णय लिया गया है कि उक्त चिकित्सा संस्थानों को तत्काल प्रभाव से अग्रेत्तर आदेशों तक निलंबित किया जाता है। साथ ही उक्त चिकित्सा संस्थानों को निर्देशित किया जाता है कि इस सम्बन्ध में अपना पक्ष एक माह के भीतर निदेशालय को उपलब्ध कराना सुनिश्चित करें। सम्बन्धित चिकित्सा संस्थानों में पूर्व से चिकित्सा उपचार प्राप्त कर रहे भर्ती मरीजों का उपचार यथावत जारी उक्त आदेश तत्काल प्रभाव से लागू होगा।

कार्यवाही की ज़द में आए निजी चिकित्सा संस्थानों का नाम व पता

1 – मैट्रो हॉस्पिटल एवं हार्ट इन्सीटयूट, (ए यूनिट ऑफ सनहिल प्रा०लि०), हरिद्वार।

2 – वेलनगिरी हिल्स नर्सिंग होम, हरिद्वार रोड़, रूड़की, हरिद्वार।

3 – रैंकर्स अस्पताल, सलीमपुर बाईपास रोड़, हरिद्वार।

4 – मेडिकेयर अस्पताल, चकराता रोड़, सेलाकुई, देहरादून।

5 – कृष्णा मेडिकल सेंटर, 22, इंदर रोड़, डालनवाला, देहरादून।

6 – बालाजी अस्पताल, हल्द्वानी, नैनीताल।

7 – अनमोल अस्पताल, काशीपुर, उधम सिंह नगर।

8 – बृजलाल अस्पताल एवं रिसर्च सेन्टर प्रा०लि०, हल्द्वानी, नैनीताल।

9 – श्री कृष्णा अस्पताल, गिरीताल, काशीपुर, उधमसिंहनगर।

10 – के.वी.आर. हास्पिटल, रिलाइंस पैट्रोल पम्प, काशीपुर, उधमसिंहनगर।

लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट पाने के लिए -

👉 हमारे समाचार ग्रुप (WhatsApp) से जुड़ें

👉 हमसे फेसबुक पर जुड़ने के लिए पेज़ को लाइक करें

👉 ख़बर सच है से टेलीग्राम (Telegram) पर जुड़ें

👉 हमारे पोर्टल में विज्ञापन एवं समाचार के लिए कृपया हमें [email protected] पर ईमेल करें या +91 97195 66787 पर संपर्क करें।

TAGS: dehradun news Directorate of Employees State Insurance Scheme Labor Medical Services removed 10 hospitals of the state from the authorized list on fake charges in treatment bills fake charges in treatment bills Uttrakhand news

More Stories

उत्तराखण्ड

परिवहन विभाग ने यातायात नियमों के उल्लंघन में 75 के वाहनों के चालान के साथ ही एक प्राईवेट बस को किया सीज

ख़बर शेयर करें -

ख़बर शेयर करें – खबर सच है संवाददाता      नैनीताल। परिवहन विभाग द्वारा यातायात नियमों के उल्लंघन में संचालित कुल 75 के वाहनों के चालान किये गये तथा 01 प्राईवेट बस को सीज किया गया। परिवहन विभाग के इन्टरसेप्टर वाहन एवं टास्कफोर्स को यात्रा सीजन के दृष्टिगत लगातार प्रवर्तन कार्यवाही किये जाने के निर्देश दिये […]

Read More
उत्तराखण्ड

एमबीपीजी कॉलेज के प्रवक्ता अमित कुमार को मिली डॉक्टरेट की उपाधि 

ख़बर शेयर करें -

ख़बर शेयर करें – खबर सच है संवाददाता  हल्द्वानी। एमबीपीजी कॉलेज हल्द्वानी के गणित विभाग में कार्यरत एसोसिएट प्रोफेसर अमित कुमार सचदेवा को उनके द्वारा किए गए शोध कार्य के फाइनल साक्षात्कार के बाद डॉक्टरेट की उपाधि मिली है। अमित कुमार ने अपना शोध कार्य कोटाबाग के प्राचार्य प्रो नवीन भगत के मार्गदर्शन में किया, […]

Read More
उत्तराखण्ड

बाइकर्स की स्पीड पर अब तीसरी आँख रखेंगी नजर, स्पीड बढ़ते ही घर पहुंचेगा चालान 

ख़बर शेयर करें -

ख़बर शेयर करें –  खबर सच है संवाददाता      हल्द्वानी। शहर में यातायात नियमों की लगातार अनदेखी के साथ ही ट्रैफिक नियमों की भी अनदेखी की जाती  है। लेकिन अब हल्द्वानी में ट्रैफिक नियमों का उल्लंघन करने वालों पर शिकंजा कसने वाला है। परिवहन विभाग ने नैनीताल रोड में वाहन दौड़ाने की गति तय […]

Read More