प्रशासन द्वारा केदारनाथ में पुनर्निर्माण के नाम पर मनमानी पर स्थानीय लोगो ने कपाट खुलते ही अनिश्चितकालीन बंद की दी चेतावनी 

ख़बर शेयर करें -
खबर सच है संवाददाता
केदारनाथ। केदारनाथ में पुनर्निर्माण कार्य के तहत भवनों के आगे गड्ढों बनाने से नाराज केदारसभा, तीर्थपुरोहित समाज और हक-हकूकधारियों ने संबंधित अधिकारियों के खिलाफ तहरीर दी है। पुलिस अधीक्षक को दी गई तहरीर में मामले में त्वरित कार्रवाई की मांग की गई है। कार्रवाई नहीं होने पर उन्होंने आगामी 10 मई से केदारनाथ में अनिश्चितकालीन बंद की चेतावनी दी है। केदारनाथ के कपाट भी 10 मई को खुल रहे हैं।
केदारसभा के अध्यक्ष राजकुमार तिवारी ने बताया कि जून 2013 की आपदा के बाद से केदारनाथ में पुनर्निर्माण कार्य चल रहे हैं। इन कार्यों में केदारनाथ से जुड़े लोग प्रशासन का हरसंभव सहयोग कर रहे हैं, लेकिन प्रशासन पुनर्निर्माण के नाम पर मनमानी कर उनके हक हकूकों व अधिकारों के साथ खिलवाड़ कर रहा है। उन्होंने बताया कि कुछ दिनों से केदारनाथ में तीर्थपुरोहित व हक-हकूकधारियों के आवासीय व व्यवसायिक भवनों के आगे गड्ढे किए जा रहे हैं, जो समझ से परे है। इन गड्ढों से उनके भवन को खतरा पैदा हो गया है। इस संबंध में अधिकारी-कर्मचारियों से पूछने पर उन्हें कोई जानकारी नहीं दी जा रही है। कहा कि केदारघाटी के सैकड़ों परिवार यात्रा पर निर्भर हैं। केदारनाथ में उन्हें भूमिधरी का अधिकार मिला है, लेकिन वर्तमान में वह जमीन उनके कब्जे में नहीं है। प्रशासन द्वारा जब-तब उन्हें अकारण परेशान किया जा रहा है।
केदारसभा के महामंत्री डा. राजेंद्र प्रसाद तिवारी ने बताया मामले में केदारसभा ने भी बैठक कर आगामी रणनीति पर चर्चा की है। कहा कि शासन-प्रशासन की इस कार्रवाई के विरोध में 10 मई को केदारनाथ में समस्त व्यापारी अपने होटल, लॉज, ढाबा, दुकान भवन और विश्राम गृह बंद रखेंगे। इधर, पुलिस उपाधीक्षक प्रबोध कुमार घिल्डियाल ने बताया कि कुछ तीर्थपुरोहित अपनी समस्या लेकर आए थे, मामले की जानकारी ली जा रही है।

लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट पाने के लिए -

👉 हमारे समाचार ग्रुप (WhatsApp) से जुड़ें

👉 हमसे फेसबुक पर जुड़ने के लिए पेज़ को लाइक करें

👉 ख़बर सच है से टेलीग्राम (Telegram) पर जुड़ें

👉 हमारे पोर्टल में विज्ञापन एवं समाचार के लिए कृपया हमें [email protected] पर ईमेल करें या +91 97195 66787 पर संपर्क करें।

TAGS: Due to arbitrariness by the administration in the name of reconstruction in Kedarnath Due to arbitrariness by the administration in the name of reconstruction in Kedarnath local people warned of indefinite closure as soon as the doors opened Kedarnath local people warned of indefinite closure as soon as the doors opened Kedarnath news Uttrakhand news

More Stories

उत्तराखण्ड

परिवहन विभाग ने यातायात नियमों के उल्लंघन में 75 के वाहनों के चालान के साथ ही एक प्राईवेट बस को किया सीज

ख़बर शेयर करें -

ख़बर शेयर करें – खबर सच है संवाददाता      नैनीताल। परिवहन विभाग द्वारा यातायात नियमों के उल्लंघन में संचालित कुल 75 के वाहनों के चालान किये गये तथा 01 प्राईवेट बस को सीज किया गया। परिवहन विभाग के इन्टरसेप्टर वाहन एवं टास्कफोर्स को यात्रा सीजन के दृष्टिगत लगातार प्रवर्तन कार्यवाही किये जाने के निर्देश दिये […]

Read More
उत्तराखण्ड

एमबीपीजी कॉलेज के प्रवक्ता अमित कुमार को मिली डॉक्टरेट की उपाधि 

ख़बर शेयर करें -

ख़बर शेयर करें – खबर सच है संवाददाता  हल्द्वानी। एमबीपीजी कॉलेज हल्द्वानी के गणित विभाग में कार्यरत एसोसिएट प्रोफेसर अमित कुमार सचदेवा को उनके द्वारा किए गए शोध कार्य के फाइनल साक्षात्कार के बाद डॉक्टरेट की उपाधि मिली है। अमित कुमार ने अपना शोध कार्य कोटाबाग के प्राचार्य प्रो नवीन भगत के मार्गदर्शन में किया, […]

Read More
उत्तराखण्ड

बाइकर्स की स्पीड पर अब तीसरी आँख रखेंगी नजर, स्पीड बढ़ते ही घर पहुंचेगा चालान 

ख़बर शेयर करें -

ख़बर शेयर करें –  खबर सच है संवाददाता      हल्द्वानी। शहर में यातायात नियमों की लगातार अनदेखी के साथ ही ट्रैफिक नियमों की भी अनदेखी की जाती  है। लेकिन अब हल्द्वानी में ट्रैफिक नियमों का उल्लंघन करने वालों पर शिकंजा कसने वाला है। परिवहन विभाग ने नैनीताल रोड में वाहन दौड़ाने की गति तय […]

Read More