उद्यान घोटाला! आठ करोड़ रुपये से ज्यादा के हेर-फेर में पूर्व निदेशक सहित 18 लोगो के खिलाफ मुकदमा  दर्ज 

ख़बर शेयर करें -
 
 
 
 
 
खबर सच है संवाददाता 
 

देहरादून। उद्यान विभाग में फलदार पौधों की खरीद फरोख्त में आठ करोड़ रुपये से ज्यादा का घोटाला पाया गया है। यह रकम पौधों की दरों में मनमाने तरीके से बढ़ोतरी कर सब्सिडी के रूप में इधर से उधर की गई है। यही नहीं एक नर्सरी का तो दूसरे पैन कार्ड पर नया खाता खुला और एकाएक उसमें करीब सवा करोड़ रुपये जमा कर दिए गए। सीबीआई की जांच में इस पूरे घोटाले का मास्टरमाइंड पूर्व निदेशक बवेजा और उनका एक नर्सरी चलाने वाला परिचित बताया जा रहा है। तीनों मुदकमों में सीबीआई ने अब विवेचना शुरू कर दी है। इसके आधार पर अब आने वाले समय में कुछ अधिकारियों और कर्मचारियों की गिरफ्तारी भी संभव है।

 
बताते चलें कि एक सामाजिक कार्यकर्ता के संघर्ष से प्रदेश के इस बड़े घोटाले का पर्दाफाश किया गया था। मामले में स्थानीय स्तर पर एसआईटी का गठन भी किया गया, लेकिन हाईकोर्ट के आदेश पर इसकी जांच सीबीआई को सौंप दी गई। सीबीआई ने तकरीबन आठ माह तक इसमें प्राथमिक जांच की और दो दिन पहले पूर्व निदेशक एचएस बवेजा समेत 18 लोगो के खिलाफ मुकदमे दर्ज कर लिए। सीबीआई के अधिकारिक सूत्रों के मुताबिक पूरा मामला लगभग आठ करोड़ रुपये के घोटाले का है। इस घोटाले को कई तरीके से अंजाम दिया गया है। इसमें प्रमुख रूप से पौधों की वास्तविक दरों में बेतहाशा मनमाने तरीके से वृद्धि की गई। इसके बाद इसी हिसाब से सब्सिडी का भुगतान किया गया। एक-एक नर्सरी को लाखों पौधों का ऑर्डर दिया गया। इस तरह जिस नर्सरी को केवल 50 लाख रुपये का भुगतान होना था उसे नई दरों के हिसाब से एक करोड़ से सवा करोड़ रुपये तक का भुगतान हुआ। यही नहीं निम्न गुणवत्ता वाले जिन पौधों की दरें विभाग ने ही 150 रुपये तय की थी। उन्हें मनमाने तरीके से 465 रुपये प्रति पौधा की दर से खरीदा गया। इस तरह जम्मू कश्मीर की बरकत एग्रो फार्म नर्सरी को तीन गुना अधिक भुगतान किया गया। बताया जा रहा कि इस पैसे की बंदरबांट अधिकारियों के बीच की गई। यही नहीं तत्कालीन सीएचओ नैनीताल आरके सिंह ने फारुक अहमद डार और साजाद अहमद के साथ मिलकर एक और खेल खेला। इन्होंने सेब के पौधों की झूठी रसीद बनाई और 1.71 करोड़ रुपये नर्सरी को ट्रांसफर कर दिए गए। बेटे के खाते में 17 लाख और खुद नकद लिए आरके सिंह ने 43 लाख। इस पैसे में 17 लाख रुपये 73 हजार पौधों की खरीद के आरके सिंह के बेटे सुनील सिंह के बाजपुर स्थित एक्सिस बैंक के खाते में ट्रांसफर किए गए। जांच में सामने आया कि नैनीताल के सीएचओ आरके सिंह ने अपने बेटे के खाते में तो पैसा लिया ही। साथ ही साथ फारुक डार से 43 लाख रुपये नकद भी हासिल किए। यह रकम सिंह को विभिन्न तारीखों में दी गई। सूत्रों के मुताबिक इस रकम में से काफी बड़ा हिस्सा पूर्व निदेशक एचएस बवेजा को भी मिला था।
 
 
सीबीआई ने बृहस्पतिवार को सभी आरोपियों से पूछताछ की थी। इसके अलावा इन सभी के ठिकानों पर तलाशी भी ली गई। इस दौरान सभी के बैंक खातों और लॉकर आदि की भी जांच की गई। सभी टीमें अन्य प्रदेशों से भी अब उत्तराखंड लौट आई हैं। ऐसे में अब सीबीआई एक संयुक्त रिपोर्ट तैयार कर रही है। बताया जा रहा है कि आरोपियों के पास से बड़ी संख्या में दस्तावेज बरामद हुए हैं। जल्द ही इस मामले में और भी बड़ी कार्रवाई हो सकती है।
यह भी पढ़ें 👉  काठगोदाम थाना क्षेत्र में देवखड़ी नाले में बहे युवक एवं बमेटा गांव के पुल के पास परिताल में डूबे जवान का मिला शव

लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट पाने के लिए -

👉 हमारे समाचार ग्रुप (WhatsApp) से जुड़ें

👉 हमसे फेसबुक पर जुड़ने के लिए पेज़ को लाइक करें

👉 ख़बर सच है से टेलीग्राम (Telegram) पर जुड़ें

👉 हमारे पोर्टल में विज्ञापन एवं समाचार के लिए कृपया हमें [email protected] पर ईमेल करें या +91 97195 66787 पर संपर्क करें।

TAGS: Case registered against former director HS Baweja CBI investigation dehradun news Garden Scam! Case registered against 18 people including former director for embezzlement of more than eight crore rupees Scam of more than eight crore rupees in Horticulture Department uttarakhand news

More Stories

उत्तराखण्ड

सवा करोड रूपये घोटाले का लेखाकार 17 साल बाद आया एसटीएफ के कब्जे में 

ख़बर शेयर करें -

ख़बर शेयर करें –      खबर सच है संवाददाता    देहरादून। एसटीएफ की आधुनिक तकनीक के साथ मैनुवल पुलिसिंग के सार्थक परिणाम पर सवा करोड रूपये घोटाले का लेखाकार 17 साल बाद एसटीएफ के कब्जे में आया है। दरगाह शरीफ पिरान कलियर के दस्तावेजों में हेराफेरी कर फरार अपराधी की गिरप्तारी पर 25 हजार […]

Read More
उत्तराखण्ड

रुद्रपुर में अतिक्रमण हटाने के दौरान पथराव की निंदा के साथ ही डिप्लोमा इंजीनियर्स संघ ने चेतावनी दी कि बिना सुरक्षा के काम करने में रहेंगे असमर्थ

ख़बर शेयर करें -

ख़बर शेयर करें –      खबर सच है संवाददाता    हल्द्वानी। उत्तराखण्ड डिप्लोमा इंजीनियर्स संघ की आपातकालीन बैठक में ऊधमसिंहनगर के रुद्रपुर में अतिक्रमण हटाने के दौरान पथराव की निंदा की गई। चेतावनी दी गई कि भविष्य में कर्मचारी-अधिकारी बिना सुरक्षा के काम करने में असमर्थ रहेंगे। इस संबंध में ऊधमसिंहनगर के जिलाधिकारी को […]

Read More
उत्तराखण्ड

काठगोदाम थाना क्षेत्र में देवखड़ी नाले में बहे युवक एवं बमेटा गांव के पुल के पास परिताल में डूबे जवान का मिला शव

ख़बर शेयर करें -

ख़बर शेयर करें –      खबर सच है संवाददाता    हल्द्वानी। हल्द्वानी के काठगोदाम थाना क्षेत्र में 11 जुलाई की रात्रि को देवखड़ी नाले में बहे युवक आकाश सिंह का शव जयपुर बीसा लालकुआ में मिल गया है। प्रशासनिक सूत्रों ने बताया कि पंचायत नामा पोस्टमार्टम की कार्यवाही की जा रही है।   वहीं […]

Read More