“एक देश-एक चुनाव” की दिशा में सरकार का पहला कदम, पूर्व राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद बने कमेटी के अध्यक्ष

ख़बर शेयर करें -

  

खबर सच है संवाददाता

नई दिल्ली। देश के चुनावी सिस्टम में एक एतिहासिक फेरबदल की संभावनाओं के साथ ही “एक देश-एक चुनाव” की दिशा में सरकार ने पहला कदम उठाते हुए सरकार ने इसकी संभावनाओं पर विचार के लिए एक कमेटी का गठन किया है। इस कमेटी का अध्यक्ष पूर्व राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद को बनाया गया है। कमेटी के सदस्यों पर थोड़ी देर में नोटिफिकेशन जारी किया जाएगा। हालांकि विपक्षी पार्टियों ने सरकार के इस कदम पर सवाल उठाए हैं।

कांग्रेस ने सवाल किया है कि अभी इसकी क्या जरूरत है? पहले महंगाई, बेरोजगारी जैसे मुद्दों का निवारण होना चाहिए। वहीं भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा ने भी आज पूर्व राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से मुलाकात की। दोनों की मुलाकात का वीडियो भी सामने आया है। बता दें कि चुनाव कराने की वित्तीय लागत, बार-बार प्रशासनिक स्थिरता, सुरक्षा बलों की तैनाती में होने वाली परेशानी और राजनीतिक दलों की वित्तीय लागत को देखते हुए मौजूदा सरकार एक देश, एक चुनाव की योजना पर विचार कर रही है। इसके तहत सरकार लोकसभा और सभी राज्यों के विधानसभा चुनाव एक साथ कराना चाहती है।

साल 1951-52 में लोकसभा और सभी राज्यों की विधानसभाओं के चुनाव एक साथ हुए थे। इसके बाद 1957, 1962 और 1967 में भी लोकसभा और सभी विधानसभाओं के चुनाव एक साथ हुए, लेकिन बाद में 1968, 1969 में कुछ विधानसभाओं के समय से पहले भंग होने और 1970 में लोकसभा को समय से पहले भंग होने से यह साथ चुनाव कराने का चक्र बाधित हो गया। यही वजह है कि अब स्थिति ये हो गई है कि हर साल कहीं ना कहीं चुनाव हो रहे होते हैं। ऐसे में सरकार फिर से लोकसभा और सभी विधानसभाओं के चुनाव एक साथ कराने की संभावनाओं पर विचार कर रही है। अब इस दिशा में कमेटी का गठन एक बड़ा कदम है। सरकार ने एक देश, एक चुनाव की संभावनाओं पर विचार के लिए कमेटी का गठन कर दिया है। हालांकि सरकार के लिए भी इस फैसले को लागू करना और इस संबंध में कानून बनाना आसान नहीं होगा। दरअसल एक साथ चुनाव कराने के लिए कई विधानसभाओं के कार्यकाल में मनमाने ढंग से कटौती करनी पड़ेगी। जिसका विरोध होना तय है। वहीं आज इस कदम के बाद ही विपक्ष ने तेवर दिखाने शुरू कर दिए हैं। तमाम राजनीतिक दल इसके विरोध में उठ खड़े हुए हैं।

लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट पाने के लिए -

👉 हमारे समाचार ग्रुप (WhatsApp) से जुड़ें

👉 हमसे फेसबुक पर जुड़ने के लिए पेज़ को लाइक करें

👉 ख़बर सच है से टेलीग्राम (Telegram) पर जुड़ें

👉 हमारे पोर्टल में विज्ञापन एवं समाचार के लिए कृपया हमें [email protected] पर ईमेल करें या +91 97195 66787 पर संपर्क करें।

TAGS: former President Ramnath Kovind became the chairman of the committee Government's first step towards "one country-one election" New delhi One country-one election

More Stories

दिल्ली

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को सुप्रीम कोर्ट  से मिली अंतरिम जमानत  

ख़बर शेयर करें -

ख़बर शेयर करें –  खबर सच है संवाददाता  नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट द्वारा दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को एक जून तक अंतरिम जमानत दिए जाने के बाद यहां स्थित आम आदमी पार्टी के कार्यालय में जश्न मनाया गया। खुशी से लबरेज कार्यकर्ताओं ने नृत्य किया और “जेल के ताले टूट गए, केजरीवाल जी छूट गए” […]

Read More
दिल्ली

ग्रेटर नोएडा से तीन दिन पहले किडनैप हुए लड़के का शव मिला बुलंदशहर की नहर में  

ख़बर शेयर करें -

ख़बर शेयर करें – खबर सच है संवाददाता    ग्रेटर नोएडा। यहां तीन दिन पहले किडनैप हुए लड़के का शव बुलंदशहर की नहर में मिला है। कार सवार बदमाश होटल कारोबारी के 15 साल के बेटे का अपहरण कर ले गए थे। मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज आगे की […]

Read More
दिल्ली

मुख्यमंत्री ने उत्तराखंड सदन से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये बैठक कर महत्वपूर्ण विषयों पर जारी किए दिशा-निर्देश  

ख़बर शेयर करें -

ख़बर शेयर करें –  खबर सच है संवाददाता  नई दिल्ली। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने आज नई दिल्ली स्थित उत्तराखंड सदन से प्रदेश में वनाग्नि, पेयजल समस्या, आगामी चारधाम यात्रा, विद्युत आपूर्ति आदि महत्वपूर्ण विषयों पर राज्य शासन के आलाधिकारियों व सभी जिलाधिकारियों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से बैठक कर दिशा-निर्देश जारी किए।

Read More