एसटीएफ ने ऑनलाईन पार्ट टाइम जॉब के नाम पर राष्ट्रीय स्कैम के गिरोह का पर्दाफाश करते हुए एक सक्रिय सदस्य को किया गिरफ्तार 

ख़बर शेयर करें -

 

खबर सच है संवाददाता

देहरादून। एसटीएफ की साइबर क्राइम पुलिस टीम द्वारा ऑनलाईन पार्ट टाइम जॉब के नाम पर किये जा रहे राष्ट्रीय स्कैम के एक और गिरोह का पर्दाफाश किया है। गिरोह के एक सक्रिय सदस्य को जिला दुर्ग, छत्तीसगढ से गिरफ्तार किया है। इस गिरोह ने देहरादून निवासी एक महिला के साथ ऑनलाईन पार्ट टाइम जॉब के नाम पर की गई थी। इसके साथ 13 लाख से अधिक रूपये की धोखाधडी की गई थी।

पुलिस से प्राप्त जानकारी के अनुसार नवादा, देहरादून निवासी एक महिला शिकायतकर्ता के साथ साईबर ठगी का एक प्रकरण साइबर क्राईम पुलिस स्टेशन उत्तराखण्ड़, देहरादून को प्राप्त हुआ था। शिकायतकर्ता द्वारा 15 दिसंबर 2023 को इन्स्टाग्राम पर एड के माध्यम से टास्क पूरा करने के बदले आन लाईन जॉब का आफर की जानकारी हेतु क्लिक किया। जिनमें उनके द्वारा आन लाईन जौब ऑफर करते हुए विभिन्न टास्क पूरे करने के बदले लाभ कमाने की बात करते हुए शिकायतकर्ता के व्हाट्सअप नम्बर पर एक लिंक भेजा गया तथा उक्त लिंक को खोलकर वीडियो को लाईक करके स्क्रीन शाट लेकर वापस भेजने की बात कही गयी व बताया गया कि आपको एक वीडियो को लाईक करने के 150 रुपये मिलेगें। इसके लिये शिकायतकर्ता द्वारा उन्हें अपने पति का बैंक खाता दे दिया गया। इस पर शिकायतकर्ता द्वारा पहले साइबर फ्रॉड्स द्वारा 03 लिंक के माध्यम से भेजे गये वीडियो को लाईक कर स्क्रीन शॉट भेजने के बदले उक्त खाते में 150 रुपये के हिसाब से 450 रुपये पहला अमाउन्ट प्राप्त किया गया। इसके बाद उनके द्वारा शिकायतकर्ता को व्हाट्सअप पर टेलीग्राम का लिंक दिया गया । टेलीग्राम में एक महिला जिसने अपना नाम प्रियंका अरोड़ा तथा स्वंय को बाईनेंस कम्पनी की रिसेपनिष्ट बताया से बात हुई । जिसके द्वारा शिकायतकर्ता को चैटिंग के माध्यम से दिशानिर्देश देते हुए टास्क दिये गये व लिंक भेजे गये शिकायतकर्ता द्वारा लिंक खोलने के बाद उनके द्वारा बनाये गये टेलीग्राम ग्रुप (नार्मल,सुपर ,एक्सीलेन्ट ग्रुप ) में विभिन्न टास्क पूरे कर लगभग 5000/-रूपये का लाभ प्राप्त किया गया। इस पर साइबर फ्रॉडस द्वारा शिकायतकर्ता को पूर्णतः विश्वास में ले लिया गया तथा शिकायतकर्ता के फोन पर एक लिंक भेजकर फोन-पे डाउनलोड कराया और शिकायतकर्ता के बैंक खाते से सम्बन्धित जानकारी भी प्राप्त कर ली गयी। इसके बाद शिकायतकर्ता को शक होने पर उसके द्वारा अपना बैंक बैलेंस चैक किया व बैंक में जाकर पता किया तो शिकायतकर्ता के बैंक खाते से 13 लाख 67 हजार रूपये निकाले जा चुके थे। इसके पश्चात शिकायतकर्ता द्वारा टेलीग्राम के माध्यम से कथित प्रियंका अरोड़ा जिसके द्वारा अपनी कम्पनी का पता BINANCE USDT(INDIA)52 MAX MUELLER MARG LODHI ESTATE NEW DELHI 110003 INDIA बताया गया था से सम्पर्क करने की कोशिश की गयी तो इनके द्वारा सभी रुपये एक दिन में वापस खाते में डाल देने का आश्वासन दिया गया। इसके बाद उक्त सारे टेलीग्राम ग्रुप व चैट उनके द्वारा दिनांक माह दिसम्बर-2023 में ही डिलीट कर दी गयी । इस प्रकार अज्ञात साईबर फ्रॉड्स द्वारा शिकायतकर्ता को ऑनलाईन पार्टटाइम जॉब के नाम पर विश्वास में लेकर तथा उक्त BINANCE नामक फर्जी कम्पनी के कर्मचारी बनकर शिकायतकर्ता के साथ 13 लाख रुपये से अधिक की धोखाधड़ी को अंजाम दिया गया। इस शिकायत के आधार पर साइबर क्राईम पुलिस स्टेशन उत्तराखण्ड देहरादून पर मु0अ0सं0-38/2023 धारा-420 भादवि व 66-डी आईटी एक्ट के अन्तर्गत अभियोग पंजिकृत होकर विवेचना साईबर थाने में नियुक्त निरीक्षक देवेन्द्र नबियाल के सुपुर्द हुई। अभियोग में अभियुक्तों के विरुद्ध कार्यवाही हेतु गठित टीम द्वारा घटना में प्रयुक्त मोबाईल नम्बर, तथा अभियुक्तो द्वारा शिकायतकर्ता से प्राप्त धनराशि की जानकारी प्राप्त की गयी। प्रकाश में आये संदिग्ध मोबाईल नम्बर व खातों की जानकारी से अभियुक्तगणों का राज्य उत्तराखण्ड से लगभग 1600 किलोमीटर काफी दूरस्थ छत्तीसगढ, मध्य प्रदेश राज्यों से सम्बन्ध होना पाया गया जिसमें साइबर थाने की पुलिस टीम को सम्बन्धित स्थानों को रवाना किया गया। पुलिस टीम द्वारा अथक मेहनत एवं प्रयास से तकनीकी विश्लेषण कर साक्ष्य एकत्रित करते हुए उक्त अभियोग में प्रकाश में आये एक अभियुक्त राजू बाघ पुत्र मलखाम बाघ निवासी वार्ड नं0-16, पदम नगर, निकट श्री राम सिटी, चरोदा, भिलाई, थाना भिलाई, जिला दुर्ग, छत्तीसगढ उम्र-39 वर्ष को जिला दुर्ग, छत्तीसगढ से गिरफ्तार किया गया। विवेचना से यह भी प्रकाश में आया कि उक्त अभियुक्त राजू बाघ द्वारा अपने अन्य साथियों के साथ मिलकर संगठित रुप से देश के विभिन्न राज्यों को लोगों के साथ धोखाधडी की जा रही है, जिसके द्वारा प्रयोग किये जा रहे ICICI बैंक के खाता संख्या-741805500124 R.K. COLORS के विरुद्ध देश के अलग-अलग विभिन्न राज्यों में कई शिकायतें दर्ज होना पाया गया है। अन्य सह अभियुक्तों की तलाश जारी है।

पुलिस द्वारा अभियुक्त राजू बाघ पुत्र मलखाम बाघ निवासी वार्ड नं0-16, पदम नगर, निकट श्री राम सिटी, चरोदा, भिलाई, थाना भिलाई, जिला दुर्ग, छत्तीसगढ उम्र-39 वर्ष इसके पास से एक मोबाइल फोन OPPO कम्पनी दो सिम मोबाईल नम्बर 8319555205 व 7415277192 04 चैक बुक, 04 एटीएम कार्ड, 01 क्रेडिट कार्ड, आर0सी0, ड्राईविंग लाईसेन्स, पैन कार्ड व आधार कार्ड की प्रतियां बरामद हुई। पुलिस टीम में निरीक्षक देवेन्द्र नबियाल ( विवेचक), उपनिरीक्षक आशीष गुसाँई, अपर उपनिरीक्षक मुकेश चन्द्र, कांस्टेबल नितिन रमोला शामिल थे।

लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट पाने के लिए -

👉 हमारे समाचार ग्रुप (WhatsApp) से जुड़ें

👉 हमसे फेसबुक पर जुड़ने के लिए पेज़ को लाइक करें

👉 ख़बर सच है से टेलीग्राम (Telegram) पर जुड़ें

👉 हमारे पोर्टल में विज्ञापन एवं समाचार के लिए कृपया हमें [email protected] पर ईमेल करें या +91 97195 66787 पर संपर्क करें।

TAGS: dehradun news STF busted a national scam gang in the name of online part time job and arrested an active member STF news Uttrakhand news

More Stories

उत्तराखण्ड

नहाते समय गंगा के तेज बहाव में बहा एक विदेशी पर्यटक, पुलिस व एसडीआरएफ जुटी तलाश में 

ख़बर शेयर करें -

ख़बर शेयर करें –  खबर सच है संवाददाता    ऋषिकेश। यहां मुनि की रेती क्षेत्र में गंगा में नहाते समय तेज बहाव की चपेट में आने से एक विदेशी पर्यटक बह गया। पुलिस व एसडीआरएफ उसकी तलाश में जुटी है, लेकिन अभी तक उसका कुछ सुराग नहीं लग सका है।   प्राप्त जानकारी के अनुसार, […]

Read More
उत्तराखण्ड

संत, गुरू व परमात्मा का दर दाता का दर है भिखारी का नहीं – श्री हरि चैतन्य महाप्रभु  

ख़बर शेयर करें -

ख़बर शेयर करें – खबर सच है संवाददाता  गढीनेगी पधारने पर श्री हरि चैतन्य महाप्रभु का हुआ भव्य स्वागत गढीनेगी। प्रेमावतार, युगदृष्टा, श्री हरि कृपा पीठाधीश्वर स्वामी श्री हरि चैतन्य पुरी जी महाराज ने यहाँ श्री हरि कृपा धाम आश्रम में उपस्थित विशाल भक़्त समुदाय को संबोधित करते हुए कहा कि संत, गुरू व परमात्मा […]

Read More
उत्तराखण्ड

दहेज में पांच लाख रुपए न लाने पर ससुरालियों ने विवाहिता का हाथ तोड़ने के साथ ही निकाला घर से

ख़बर शेयर करें -

ख़बर शेयर करें –  खबर सच है संवाददाता   काशीपुर। दहेज में पांच लाख रुपए न लाने पर ससुरालियों ने विवाहिता से मारपीट कर उसका हाथ तोड़ने के साथ ही घर से निकाल दिया। विवाहिता ने पति समेत चार के खिलाफ केस दर्ज कराया है।       काशीपुर के ग्राम भगवंतपुर निवासी मनीषा ने […]

Read More