फ्रेंचाइजी दिलाने के नाम पर धोखाधड़ी करने वाले गिरोह के चार सदस्यों को उत्तराखंड एसटीएफ ने किया गिरफ्तार  

ख़बर शेयर करें -

खबर सच है संवाददाता

देहरादून।  मैकडोनल्ड और केएफसी आदि कंपनियों की फ्रेंचाइजी दिलाने के नाम पर धोखाधड़ी करने वाले गिरोह के चार सदस्यों को उत्तराखंड एसटीएफ ने बिहार के पटना से गिरफ्तार किया है। ऐसे गिरोह की ओर से की जा रही धोखाधड़ी के देशभर में कुल 90 शिकायतें दर्ज की गई। तेलंगाना में 14 मुकदमे और आंध्रप्रदेश में भी एक मुकदमा दर्ज है। उत्तराखंड के एक व्यक्ति को भी इन्होंने 35 लाख का चूना लगाया था।

ये था मामला
उत्तराखंड एसटीएफ के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक आयुष अग्रवाल ने बताया कि साइबर क्राईम पुलिस स्टेशन में ऋषिकेश के आशुतोष नगर निवासी प्रशांत जमगदग्नि ने शिकायत दर्ज कराई थी। उन्होंने बताया कि मैकडोनल्ड की फ्रैंचाईजी लेने के लिए उन्होंने गूगल पर सर्च लेने के लिए गूगल पर सर्च किया और ऑनलाईन वेबसाईट www.mcdonaldspartner.com में मैकडोनल्ड रेस्टोरेंट की फ्रैन्चाईजी के लिए आवेदन किया। इस पर एक व्यक्ति ने कॉल कर स्वंय को मैकडौनल्ड का कस्टमर रिलेशनशिप मैनेजर बताया और कम्पनी की ओर से आवेदन स्वीकार करने की जानकारी दी। इसके बाद फिर से उन्हें कॉल आई को स्वंय को मैकडोनल्ड का हेड ऑफ वैरिफिकेशन टीम से बताकर उन्हें [email protected] मेल पर डिटेल देने को कहा। इसमें कम्पनी में रजिस्ट्रेशन, एनओसी तथा लाईसेन्स फीस आदि के नाम पर धोखाधड़ी से भिन्न-भिन्न लेन देन के माध्यम से 3540000 रुपये की ऑनलाईन धोखाधड़ी की गई। इस पर साइबर क्राइम पुलिस स्टेशन में मुकदमा दर्ज किया गया।

पटना से गिरफ्तार किया गया गिरोह

आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई के लिए उनके संबंध में जांच शुरू की गई। मोबाईल नम्बर व खातों की जानकारी से आरोपियों का संबंध बिहार से पटना से होना मिला। इस पर एक टीम पटना बेजी गई। एसटीएफ की टीम ने चार आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया। इस गिरोह का कार्य कर नामी गिरामी कम्पनियों (Mc Donald’s, KFC आदि) की फर्जी वेबसाईट बनाकर सम्पूर्ण भारत के भिन्न-भिन्न राज्यों से ऑनलाईन आवेदन करने वाले व्यक्तियों से सम्पर्क किया जाता था। स्वंय को कम्पनी का कस्टमर रिलेशनशिप मैनेजर बताकर आवेदन स्वीकर करने की बात कहते हुए आवेदन की फीस मांगी जाती थी। हैड ऑफ वैरिफिकेशन टीम बनकर वैरीफिकेशन कराने की बात कहते हुए वैरिफिकेशन की फीस प्राप्त करना, इसी तरह कम्पनी में रजिस्ट्रेशन, एनओसी तथा लाईसेन्स फीस आदि के नाम पर धोखाधड़ी से भिन्न-भिन्न लेन देन के माध्यम से लाखों की धनराशि वसूली जाती है। उक्त कार्य के लिए फर्जी सिम, आईडी कार्ड तथा फर्जी खातों का प्रयोग किया जा रहा था।

गिरफ्तार अभियुक्तों के नाम
1- सनी कुमार वर्मा पुत्र गोपाल प्रसाद वर्मा निवासी न्यू कॉलोनी थाना मालसलामी पटना बिहार उम्र 19 वर्ष
2- सूरज कुमार वर्मा पुत्र वकील प्रसाद वर्मा निवासी न्यू कॉलोनी थाना मालसलामी पटना बिहार उम्र 34 वर्ष
3- सनी कुमार पुत्र कृष्ण कुमार जयसवाल निवासी गुल मैया चौक सबलपुर थाना नदी मोजीपुर पटना बिहार उम्र 19
4- चन्दन कुमार उर्फ विकास पुत्र रामबाबू शाह निवासी जमुनापुर चाईटोली पटना बिहार उम्र 19 वर्ष
बरामदगी

  1. मोबाईल फोन – 04
  2. सिम कार्ड- 12
  3. डेबिट कार्ड- 2
  4. आधार कार्ड- 2
  5. पेन कार्ड- 1
  6. धनराशि – 6.5 लाख रुपये ( बैक खाते में रोकी गयी)

पुलिस टीम
1- निरीक्षक विकास भारद्वाज
2- उनि राजीव सेमवाल
3- अपर उनि सुरेश कुमार

लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट पाने के लिए -

👉 हमारे समाचार ग्रुप (WhatsApp) से जुड़ें

👉 हमसे फेसबुक पर जुड़ने के लिए पेज़ को लाइक करें

👉 ख़बर सच है से टेलीग्राम (Telegram) पर जुड़ें

👉 हमारे पोर्टल में विज्ञापन एवं समाचार के लिए कृपया हमें [email protected] पर ईमेल करें या +91 97195 66787 पर संपर्क करें।

TAGS: dehradun news Uttarakhand STF arrested four members of the gang who cheated in the name of getting franchisee Uttrakhand news

More Stories

उत्तराखण्ड

प्रशिक्षु राजस्व निरीक्षकों से संवाद के बाद डॉ आशुतोष पंत ने किया पौधरोपण 

ख़बर शेयर करें -

ख़बर शेयर करें –  खबर सच है संवाददाता ऊधमसिंह नगर। रुद्रपुर में प्रशिक्षु राजस्व निरीक्षकों से पर्यावरण विषय पर संवाद के दौरान पर्यावरण विद्द एवं पूर्व जिला आयुर्वेद व यूनानी अधिकारी डॉ आशुतोष पंत ने पर्यावरण विषय पर लेक्चर के साथ ही किया पौधरोपण। बताते चलें कि पर्यावरण विद्द एवं पूर्व जिला आयुर्वेद व यूनानी […]

Read More
उत्तराखण्ड

उत्तराखण्ड शासन ने किया दो आईएएस अधिकारियों के कार्य क्षेत्र में फेरबदल करते हुए प्रशांत कुमार आर्य को बनायाआबकारी आयुक्त  

ख़बर शेयर करें -

ख़बर शेयर करें -खबर सच है संवाददाता देहरादून। उत्तराखंड शासन ने दो आईएएस अधिकारियों के विभागों में हुए फेरबदल किया है। बताते चलें कि उत्तराखण्ड शासन ने आबकारी आयुक्त हरि चंंद्र सेमवाल की तबीयत खराब होने के चलते उन्हें आबकारी आयुक्त के पद से हटाते हुए अब आईएएस अधिकारी प्रशांत कुमार आर्य को आयुक्त आबकारी की जिम्मेदारी […]

Read More
उत्तराखण्ड

धामी सरकार ने विधानसभा में पेश किया वित्तीय वर्ष 2024-25 का बजट 

ख़बर शेयर करें -

ख़बर शेयर करें –   खबर सच है संवाददाता देहरादून। धामी सरकार में वित्त मंत्री प्रेमचंद अग्रवाल ने वित्तीय वर्ष 2024-25 का बजट पेश किया। कुल नवासी हजार दो सौ तीस करोड़ सात लाख (892300697) का वार्षिक बजट पेश किया। वित्त मंत्री ने बजट को उन्नत,सुशासित व क्षमतावान नीति पर आधारित बताया।वित्त मंत्री ने मंगलवार को […]

Read More