दिनदहाड़े हुई डकैती के मामले का खुलासा करते हुए पुलिस ने लूटे गए माल सहित पांच शातिर बदमाशों को किया गिरफ्तार  

ख़बर शेयर करें -

खबर सच है संवाददाता

देहरादून। पुलिस ने तीन दिन पहले नगर में दिनदहाड़े हुई डकैती के मामले का खुलासा कर दिया है। पुलिस ने पांच शातिर बदमाशों को गिरफ्तार किया है। साथ ही लूटा गया माल भी बरामद किया है।

गत 11 अप्रैल को संदीप अग्रवाल पुत्र विनोद अग्रवाल निवासी 107 नेहरू कॉलोनी देहरादून में सूचना दी गई कि दोपहर करीब 12:00 बजे चार अज्ञात बदमाशों द्वारा चाकू व तमंचे की नोक पर उनके घर में घुसकर उनकी माता सुनीता अग्रवाल, पिता विनोद अग्रवाल व बहन रश्मि अग्रवाल को डरा धमका कर उन्हें बंधक बनाते हुए उनसे सोने के जेवरात व नकदी लूट कर ले गए हैं। दिनदहाड़े हुई डकैती की घटना की गम्भीरता के दृष्टिगत 08 अलग-अलग टीमें गठित की गयी। गठित पुलिस टीम द्वारा सर्वप्रथम घटनास्थल के आसपास लगे सीसीटीवी कैमरों का गहनता से अवलोकन किया गया तो ज्ञात हुआ कि एक एक्टिवा व एक अपाचे मोटरसाइकिल में सवार चार लोग वादी के घर के अंदर घुसे और उनके द्वारा शातिराना अंदाज में गाड़ियां दूर खड़ी कर घटना को अंजाम दिया गया, इसके अतिरिक्त एक अभियुक्त निगरानी हेतु घर के पास ही रुक गया। 10 मिनट के पश्चात सभी अभियुक्त मोटरसाइकिल व एक्टिवा में फरार हो गए। सीसीटीवी फुटेजों के अवलोकन करने पर उक्त वाहनों की नंबर प्लेट पर काली टेप चढ़ा होना पाया गया, जिस कारण वाहनों को ट्रेस कर पाना काफी मुश्किल था। गठित टीम द्वारा घटना के सम्बन्ध में जनपद देहरादून, हरिद्वार तथा मुजफ्फरनगर के लगभग 450 सीसीटीवी कैमरों का गहनता से अवलोकन किया गया तो ज्ञात हुआ कि घटना से पूर्व कुछ लोगों द्वारा घर की भली-भांति रैकी की गई थी। सीसीटीवी फुटेजों के अवलोकन से पुलिस को कुछ संदिग्ध व्यक्तियों के फोटोग्राफ प्राप्त हुए, जिनकी तलाश में पुलिस टीम द्वारा जनपद हरिद्वार, बिजनौर, मेरठ, मुजफ्फरनगर, दिल्ली इत्यादि स्थानों पर अपने गोपनीय सूत्रों से जानकारी की गई तो घटना में मुजफ्फरनगर के ग्राम पचेन्डाकला के बदमाशों के शामिल होने के गहन साक्ष्य मिले। पुलिस टीम द्वारा घटना में सलिप्त 05 अभियुक्तों में से 04 अभियुक्तों विपिन, सचिन, विकास व अंकित को ग्राम पचेन्डाकला मुजफ्फरनगर तथा एक अन्य अभियुक्त विकास जयसवाल को आईडीपीएल ऋषिकेश से गिरफ्तार करते हुए उनके कब्जे से लूट का समस्त सामान बरामद किया गया। 

यह भी पढ़ें 👉  मौसम विभाग ने अगले 24-48 घंटे सतर्क रहने की चेतावनी के साथ ही भारी बारिश का अलर्ट किया जारी  

पूछताछ में अभियुक्त विपिन द्वारा बताया गया कि मैं देहरादून में अपने चचेरे भाई गुड्डू के पास अक्सर आता जाता रहता हूँ, जो Saint Annies स्कूल में काम करता है जो संदीप अग्रवाल का है। अपने चचेरे भाई से मैंने बातों-बातों में उसके मालिक के घर के बारे में काफी जानकारी जुटायी थी क्योकि संदीप अग्रवाल एक नामी स्कूल चलाता है तथा वर्तमान में एडमिशन सीजन होने के कारण मुझे उसके घर पर लगभग 40 से 50 लाख रू0 तक मिलने की उम्मीद थी, इसलिये मैने उसके घर में डकैती डालने का प्लान बनाया था। इस प्लान को मैंने अपने अन्य साथियों सचिन, अंकित तथा विकास को भी शामिल किया था। फिर हमने करीब 10 दिन पहले आकर घर की रेकी की थी व उसके दो दिन बाद ही घटना करने आये थे, किन्तु उस दिन उनके घर के बाहर काफी मजदूर काम कर रहे थे, जिस कारण हम वापस चले गए। 10 तारीख को हम लोग एक्टिवा व अपाचे मोटर साइकिल से देहरादून आये पर उस दिन भी मौका न मिलने के कारण हम ऋषिकेश में हमारे गांव के रहने वाले विकास जयसवाल के पास चले गये, जो पहले दिल्ली रहता था और वर्तमान में ऋषिकेश क्षेत्र में किराये पर रहकर एक होटल चलाता है। विकास जयसवाल को हमने अपनी योजना के बारे में बताया तो वो भी हमारी इस योजना में शामिल हो गया। विकास जायसवाल के कमरे में जगह कम होने के कारण मैं उसके कमरे में रुक गया व मेरे अन्य साथी विकास, सचिन और अंकित भानियावाला में काइट होटल में रुक गए। 11 तारीख को सुबह हम सब लोग प्लान के मुताबिक एक्टिवा व अपाचे बाइक में सीधे देहरादून नेहरु कॉलोनी SBI वाली गली में स्थित उक्त घर में पहुंचे जिसकी हमारे द्वारा पहले ही जानकारी जुटा ली गयी थी। हमने बाइक को घर से थोड़ी दूर एक पार्क के पास खड़ा किया व एक्टिवा सीधे घर के पास ले गए। विकास घर के बाहर रहा और हम चारों लोग घर में घुस गए व वहां मौजूद 2 महिलाओं, एक बुजुर्ग को हमारे पास मौजूद तमंचे व चाकू से डराते हुए उन्हें बंधक बनाकर उनसे उनके पहने हुये जेवरात अंगूठी, कड़े व कान के टॉप्स तथा लगभग 6-7 हज़ार रूपये नगदी ले ली। हम घर पर अलमारी आदि चेक कर पाते इससे पहले ही उपरी मंजिल से एक महिला चिल्लाने लगी तो हम लोग डर कर वहां से भाग निकले। उसके बाद हमने कैमरों से बचने के लिए अपने कपडे बदले और सीधे ऋषिकेश चले गए, जहाँ हमने विकास को छोड़ा व उसे उसके हिस्से की एक अंगूठी दी और बैराज घूमते हुवे सीधे अपने गावं आ गए, जो पैसे हमने लूटे थे वो हमारे खाने पीने में खर्च हो गए। हम जेवरात बेचने मुज्जफरनगर गए थे किन्तु बिना बिल के किसी ने उन्हें नहीं खरीदा तो हम वापस घर जा रहे थे कि इस दौरान ही पुलिस ने हमे पकड लिया। गिरफ्तार अभियुक्तों में विपिन पुत्र कृष्णपाल, निवासी पचेन्डाकला थाना नई मण्डी, मुज्जफरनगर, विकास पुत्र रणजीत, निवासी मुजफ्फरनगर, सचिन पुत्र रामगोपाल, निवासी मुजफ्फरनगर, अंकित पुत्र अशोक, निवासी मुजफ्फरनगर, विकास जयसवाल पुत्र विक्रम सिंह निवासी ए-2/190/44 अमर कॉलोनी ईस्ट गोकुलपुर देहली 94 शामिल हैं। बदमाशों के पास से 04 अगूठी सोने की, 04 चूड़ी सोने की, 02 कान की बाली सोने की, 01 तमंचा 315 बोर मय 01 जिंदा कारतूस, 02 चाकू घरेलू इस्तेमाली, अपाचे मोटर साइकिल नं0 PB65 AA4480, एक्टिवा नं0: DL 8S CQ 3248 बरामद हुई।

लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट पाने के लिए -

👉 हमारे समाचार ग्रुप (WhatsApp) से जुड़ें

👉 हमसे फेसबुक पर जुड़ने के लिए पेज़ को लाइक करें

👉 ख़बर सच है से टेलीग्राम (Telegram) पर जुड़ें

👉 हमारे पोर्टल में विज्ञापन एवं समाचार के लिए कृपया हमें [email protected] पर ईमेल करें या +91 97195 66787 पर संपर्क करें।

TAGS: crime news dehradun news Disclosing the daylight robbery case the police arrested five vicious miscreants along with the looted goods Uttrakhand news

More Stories

उत्तराखण्ड

संदिग्ध परिस्थितियों में पेड़ से लटका मिला युवक का शव, पुलिस ने भेजा पोस्टमार्टम को 

ख़बर शेयर करें -

ख़बर शेयर करें –  खबर सच है संवाददाता  रामनगर। यहां पुछड़ी नई बस्ती गांव में एक युवक का शव संदिग्ध परिस्थितियों में पेड़ से लटका मिला। बताया जा रहा है कि फुटबॉल खेलने जा रहे बच्चों ने शव को देखा, जिसके बाद पुलिस को सूचना दी। सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर […]

Read More
उत्तराखण्ड

जिलाधिकारी ने हल्द्वानी विधायक व अफसरों के साथ किया आपदा प्रभावित क्षेत्रों का दौरा

ख़बर शेयर करें -

ख़बर शेयर करें –      खबर सच है संवाददाता    हल्द्वानी। जिलाधिकारी वंदना सिंह ने हल्द्वानी विधायक सुमित हृदयेश व अफसरों के साथ कई आपदा प्रभावित क्षेत्र का दौरा किया।   इस दौरान विधायक ने बताया कि चौफुला जंगलात चौकी के पास बरसात के समय पहाड़ से आने वाला पानी और मलबा फैल जाता […]

Read More
उत्तराखण्ड

केदारनाथ पैदल मार्ग पर मलबा आने से तीन की मौत कई अन्य के दबे होने की आशंका 

ख़बर शेयर करें -

ख़बर शेयर करें –      खबर सच है संवाददाता    रुद्रप्रयाग। केदारनाथ पैदल मार्ग पर रविवार (आज)सुबह दर्दनाक हादसा हो गया। यहां मलबा आने के कारण यात्रियों के मलबे में दबे होने की सूचना है। तीन यात्रियों के शवों को मलबे से निकाल लिया गया है। इन सभी की मौके पर ही मौत हो […]

Read More