प्रधानमंत्री के स्मार्ट पुलिसिंग के विजन को मुख्यमंत्री ने किया उत्तराखंड पुलिस के ई- बीट एप और सीईआईआर सेवा का शुभारंभ  

ख़बर शेयर करें -

खबर सच है संवाददाता

देहरादून। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के स्मार्ट पुलिसिंग के विजन को साकार करने और मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के विकास की धारा को समाज के अंतिम छोर पर खड़े व्यक्ति तक पहुंचाने और सरलीकरण, समाधान व निस्तारण पर फोकस किए जाने के लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए उत्तराखंड पुलिस ने सीसीटीएनएस प्रोजेक्ट के तहत आज ई-बीट एप और सीईआईआर सेवा की शुरुआत की है। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा है कि पुलिस का यह ई-बीट ऐप और सीईआईआर सेवा स्मार्ट पुलिसिंग के प्रधानमंत्री के विजन को साकार करने में सहायक सिद्ध होगी।

यह भी पढ़ें 👉  उद्यान घोटाला! आठ करोड़ रुपये से ज्यादा के हेर-फेर में पूर्व निदेशक सहित 18 लोगो के खिलाफ मुकदमा  दर्ज 

आम जनता को पुलिस से संबंधित विभिन्न सुविधाएं आसानी से प्रदान करने और कानून व्यवस्था को और अधिक सुदृढ़ बनाने के उद्देश्य से ई-बीट एप को तैयार किया गया है। इस ऐप के माध्यम से विभिन्न बीट में कार्य कर रहे कांस्टेबलों और पुलिस अधिकारियों को अपना कार्य आसानी से पूर्ण करने में सहायता मिलेगी साथ ही वे बिना पुलिस स्टेशन आए थाने में बैठे अधिकारियों को आपराधिक और अन्य गतिविधियों कीजानकारी प्रेषित कर सकेंगे। बीट कांस्टेबल अपनी बीट में स्थित मंदिरों, स्कूलों, अस्पतालों आदि के बारे में भी सूचनाएं और सामान्य जानकारी एकत्रित कर ऐप पर दिखा सकते हैं, जिन्हें अन्य लोग देख सकते हैं। इस ऐप का उपयोग कर पुलिस मोबाइल के माध्यम से ही नागरिकों को विभिन्न मामलों में आसानी से सत्यापन की सुविधा मिल सकेगी। पुलिस कर्मचारी सीसीटीएनएस के लॉगिन आईडी और पासवर्ड के माध्यम से इसमें लॉग इन कर सकते हैं। ई – बीट ऐप एक सुरक्षित और शीघ्रातिशीघ्र पुलिस से संपर्क करने का एक आसान माध्यम है। इसी प्रकार यदि किसी का फोन चोरी या गुम हो जाता है और व्यक्ति इसकी रिपोर्ट करता है तो सीईआइआर की मदद से फोन को ब्लॉक किया जा सकता है, ताकि इसका गलत उपयोग न हो। यदि कोई व्यक्ति सिम कार्ड बदल के भी फोन का उपयोग करना चाहेगा तो यह संभव नहीं हो पाएगा। सीईआईआर मोबाइल के आईएमईआई डेटाबेस पर और मोबाइल फोन निर्माता कंपनियों व टेलीकॉम ऑपरेटर के साथ मिलकर काम करता है। पुलिस ने अपने सीसीटीएनएस (क्राइम एंड क्रिमिनल ट्रैकिंग नेटवर्क एंड सिस्टम्स) को सीईआईआर (सेंट्रल इक्विपमेंट आइडेंटिटी रजिस्टर) के साथ इंटीग्रेट करने की प्रोसेस शुरू कर दी है, जिससे खोए या चोरी हुए मोबाइल फोन की समस्या का समाधान होगा और उपभोक्ताओं के हितों की रक्षा की जा सकेगी।

लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट पाने के लिए -

👉 हमारे समाचार ग्रुप (WhatsApp) से जुड़ें

👉 हमसे फेसबुक पर जुड़ने के लिए पेज़ को लाइक करें

👉 ख़बर सच है से टेलीग्राम (Telegram) पर जुड़ें

👉 हमारे पोर्टल में विज्ञापन एवं समाचार के लिए कृपया हमें [email protected] पर ईमेल करें या +91 97195 66787 पर संपर्क करें।

TAGS: Chief minister dhami Chief Minister launched Uttarakhand Police's e-beat app and CEIR service dehradun news Prime Minister's vision of smart policing Uttrakhand news

More Stories

उत्तराखण्ड

होटल चैक आउट से पहले नकली डेड बॉडी बनाकर प्रैंक करना तीन स्टूडेंट्स को पड़ा भारी, पुलिस ने नगद धनराशि जमा करवाकर किया दण्डित 

ख़बर शेयर करें -

ख़बर शेयर करें –      खबर सच है संवाददाता    नैनीताल। दिनांक 15 जून 2024 को नैनीताल स्थित एक होटल में रूकने आये 03 छात्रों द्वारा चैक आउट करने से पहले सफ़ेद चादर में लपेट कर डेड बॉडी बनाकर चैक आउट कर चले गये। सफाई कर्मचारी जब रूम साफ करने आये तो बैड में  […]

Read More
उत्तराखण्ड

रमक गांव में हुए खूनी वारदात में दो लोगों की मौत के साथ ही दो लोग अस्पताल में लड़ रहें जिंदगी की जंग 

ख़बर शेयर करें -

ख़बर शेयर करें –  खबर सच है संवाददाता  चम्पावत। चंपावत जिले के पाटी ब्लॉक के रमक गांव में हुई खूनी वारदात में अब तक दो लोगों की मौत हो चुकी है। 16 जून को हमलावर की मौत हुई और एक दिन बाद 17 जून को एक जख्मी युवक की इलाज के दौरान हल्द्वानी के सुशीला […]

Read More
उत्तराखण्ड

उत्तरकाशी के डोडीताल ट्रैक पर गए लोक निर्माण विभाग में सहायक अभियंता की हुई मौत 

ख़बर शेयर करें -

ख़बर शेयर करें –      खबर सच है संवाददाता    उत्तरकाशी। उत्तरकाशी के डोडीताल ट्रैक पर मांझी से एक किमी पहले दो स्थानीय ट्रैकर्स के फंसने की आपातकालीन एसओएस कॉल प्राप्त हुई है। डीएम  डॉ. मेहरबान सिंह बिष्ट ने रेस्क्यू के लिए एसडीआरएफ, वन विभाग व पुलिस विभाग की टीमों को तुरंत मौके पर […]

Read More