42 लाख रुपए से अधिक की चपत लगाने वाले नायब नाजिर के खिलाफ कोतवाली पुलिस ने किया मुकदमा दर्ज 

ख़बर शेयर करें -

 

खबर सच है संवाददाता

हल्द्वानी। उत्तराखंड सरकार को 42 लाख रुपए से अधिक की चपत लगाने वाले तहसील के नायब नाजिर के खिलाफ कोतवाली पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर लिया है। नायब नाजिर पर हल्द्वानी तहसील से 42.32 लाख रुपये गबन करने का आरोप है। आरोपी के खिलाफ पिछले पांच साल से जांच चल रही थी। जब अंतिम रिपोर्ट में पुष्टि हुई तो तहसीलदार सचिन कुमार ने जिलाधिकारी वंदना के निर्देश पर आरोपी के खिलाफ तहरीर दी। आरोपी मो. जफर आलम के खिलाफ धारा 409 के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है।

तहसीलदार सचिन कुमार ने बताया कि हल्द्वानी तहसील के नायब नाजिर मो. जफर आलम के खिलाफ पिछले पांच साल से जांच चल रही थी और पांच साल पहले जफर हल्द्वानी तहसील में नायब नाजिर के पद पर तैनात था। वर्तमान में आरोपी जफर नैनीताल तहसील में कार्यरत है। जांच में सामने आया कि जफर ने खतौनी मद, ई-जनाधार और वासिल वाकी नवीस के लिए आने वाला धन सरकारी कोष में जमा करने के बजाय अपनी जेब में रख लिया। पद पर रहते हुए जफर ने 42,32,262 रुपये के गबन किया। मामले की जांच की गई तो पता चला कि तत्कालीन नायब नाजिर ने खतौनी मद में 27,08,010 रुपये, ई-जनाधार से प्राप्त आय के 14,92,452 रुपये और वासिल वाकी नवीस (आय-व्यय) के 28,800 रुपये गबन कर दिए।

जनाधार केंद्रों से वसूली गई इस रकम को विभागीय बैंक खाते में जमा करानी थी। आरोपों के बाद इसकी जांच तत्कालीन एसडीएम को सौंपी गई और जांच कर उन्होंने आरोपों की पुष्टि भी कर दी। इसके बाद वर्ष 2020 में तत्कालीन तहसीलदार हल्द्वानी नितेश डागर को मामले की जांच सौंपी गई। नितेश ने भी आरोपों की पुष्टि की और रिपोर्ट जिलाधिकारी को सौंपी। हालांकि जांच यहां भी नहीं रुकी। इसके बाद वर्ष 2021 में सिटी मजिस्ट्रेट ऋचा सिंह को जांच करने को कहा गया। उनकी जांच में भी आरोप सही पाए गए तो रिपोर्ट फिर जिलाधिकारी को सौंपी गई। इसकी जांच तत्कालीन एसडीएम कोश्याकुटौली प्रमोद कुमार ने भी 2017-18 में मामले की जांच की थी और उन्होंने भी जफर को दोषी पाया था। बार-बार जांच और जांच में आरोप सही पाए जाने के बाद भी मो.जफर आलम पर कार्रवाई नहीं की गई। मामला वर्तमान जिलाधिकारी वंदना के कानों तक पहुंचा तो उन्होंने आरोपी की रिपोर्ट तलब की। जिसके बाद उन्होंने मामले में तहसीलदार सचिन कुमार को मामले में मुकदमा दर्ज कराने के निर्देश दिए। बुधवार को कोतवाली पुलिस ने तहसीरदार की तहरीर पर आरोपी मो.जफर आलम के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया। मामले की जांच अब राजपुरा चौकी प्रभारी नरेंद्र कुमार को सौंपी गई है। बताया यह भी जा रहा है कि गबन की भरपाई करने के लिए जफर के मासिक वेतन से 20 हजार रुपये प्रतिमाह काटे जाएंगे।

लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट पाने के लिए -

👉 हमारे समाचार ग्रुप (WhatsApp) से जुड़ें

👉 हमसे फेसबुक पर जुड़ने के लिए पेज़ को लाइक करें

👉 ख़बर सच है से टेलीग्राम (Telegram) पर जुड़ें

👉 हमारे पोर्टल में विज्ञापन एवं समाचार के लिए कृपया हमें [email protected] पर ईमेल करें या +91 97195 66787 पर संपर्क करें।

TAGS: crime news Haldwani news Kotwali police registered a case against Naib Nazir who embezzled more than Rs 42 lakh Uttrakhand news

More Stories

उत्तराखण्ड

सीबीआई ने दस हजार रुपये की रिश्वत लेते सीजीएसटी के अधीक्षक को किया गिरफ्तार   

ख़बर शेयर करें -

ख़बर शेयर करें – खबर सच है संवाददाता रुद्रपुर। सीबीआई ने सेंट्रल जीएसटी के अधीक्षक को 10 हजार रुपये की रिश्वत लेते हुए गिरफ्तार किया है। जीएसटी अधिकारी पर जीएसटी नंबर के समाधान के लिए घूस मांगने का आरोप है। शिकायतकर्ता मुकेश कुमार निवासी रुद्रपुर ऊधमसिंह नगर ने सीबीआई के एसपी से शिकायत की थी […]

Read More
उत्तराखण्ड

शनि-शुक्र और सूर्य के त्रिग्रही योग से इन राशियों को मिल सकता है अपार पैसा और पद- प्रतिष्ठा

ख़बर शेयर करें -

ख़बर शेयर करें -खबर सच है संवाददाता देहरादून। ज्योतिष शास्त्र अनुसार अभी ग्रहों के राजा सूर्य और न्याय प्रदाता शनि देव अभी कुंभ राशि में संचरण कर रहे हैं और 7 मार्च को धन और वैभव के दाता शुक्र ग्रह कुंभ राशि में प्रवेश करने जा रहे हैं। जिससे कुंभ राशि में शुक्र, सूर्य और […]

Read More
उत्तराखण्ड

प्रशिक्षु राजस्व निरीक्षकों से संवाद के बाद डॉ आशुतोष पंत ने किया पौधरोपण 

ख़बर शेयर करें -

ख़बर शेयर करें –  खबर सच है संवाददाता ऊधमसिंह नगर। रुद्रपुर में प्रशिक्षु राजस्व निरीक्षकों से पर्यावरण विषय पर संवाद के दौरान पर्यावरण विद्द एवं पूर्व जिला आयुर्वेद व यूनानी अधिकारी डॉ आशुतोष पंत ने पर्यावरण विषय पर लेक्चर के साथ ही किया पौधरोपण। बताते चलें कि पर्यावरण विद्द एवं पूर्व जिला आयुर्वेद व यूनानी […]

Read More