उत्पीड़न के खिलाफ आज पहलवान खिलाड़ी मेडल को करेंगे गंगा में प्रवाहित

ख़बर शेयर करें -

  

खबर सच है संवाददाता

हरिद्वार। खिलाड़ियों के उत्पीड़न के विरोध में आज पहलवान खिलाड़ी हरिद्वार में गंगा में मेडल प्रवाहित करेंगे। इसकी जानकारी खिलाड़ी बजरंग पुनिया ने ट्वीटर एकाउंट पर शेयर की है। उन्होंने लिखा ’28 मई को जो हुआ वह आप सबने देखा। पुलिस ने हम लोगों के साथ क्या व्यवहार किया। हमें कितनी बर्बरता से गिरफ़्तार किया। हम शांतिपूर्ण आंदोलन कर रहे थे। हमारे आंदोलन की जगह को भी पुलिस ने तहस नहस कर हमसे छीन लिया और अगले दिन गंभीर मामलों में हमारे ऊपर ही एफआईआर दर्ज कर दी गई। क्या महिला पहलवानों ने अपने साथ हुए यौन उत्पीड़न के लिए न्याय मांगकर कोई अपराध कर दिया है। पुलिस और तंत्र हमारे साथ अपराधियों जैसा व्यवहार कर रही है, जबकि उत्पीड़क खुली सभाओं में हमारे ऊपर फबतियां कस रहे हैं। टीवी पर महिला पहलवानों को असहज कर देनी वाली अपनी घटनाओं को कबूल करके उनको ठहाकों में तब्दील कर दे रहा है। यहां तक कि पाक्सो एक्ट को बदलवाने की बात सरेआम कह रहा है। महिला पहलवान अंदर से ऐसा महसूस कर रही हैं कि इस देश में हमारा कुछ बचा नहीं है। हमें वे पल याद आ रहे हैं जब हमने ओलंपिक, वर्ल्ड चैंपियनशिप में मेडल जीते थे। अब लग रहा है कि क्यों जीते थे। क्या इसलिए जीते थे कि तंत्र हमारे साथ ऐसा घटिया व्यवहार करे। हमें घसीटे और फिर हमें ही अपराधी बना दे। 

यह भी पढ़ें 👉  दस हजार रुपए की घूस लेते विजिलेंस ने महिला ग्राम प्रधान को किया गिरफ्तार  

कल पूरा दिन हमारी कई महिला पहलवान खेतों में छिपती फिरी हैं। तंत्र को पकड़ना उत्पीड़क को चाहिए था, लेकिन वह पीड़ित महिलाओं को उनका धरना खत्म करवाने, उन्हें तोड़ने और डराने में लगा हुआ है। अब लग रहा है कि हमारे गले में सजे इन मेडलों का कोई मतलब नहीं रह गया है। इनको लौटाने की सोचने भर से हमें मौत लग रही थी, लेकिन अपने आत्म सम्मान के साथ समझौता करके भी क्या जीना। मां गंगा से पवित्र कुछ नहीं, इसलिए उन्हीं की गोद में प्रवाहित करेंगे मेडल लिखा कि मन में यह सवाल आया कि किसे लौटाएं ये मेडल। हमारी राष्ट्रपति को, जो खुद एक महिला हैं। मन ने ना कहा, क्योंकि वह हमसे सिर्फ दो किलोमीटर दूर बैठीं सिर्फ देखती रहीं, लेकिन कुछ भी बोली नहीं। हमारे प्रधानमंत्री को, जो हमें अपने घर की बेटियां बताते थे।मन नहीं माना, क्योंकि उन्होंने एक बार भी अपने घर की बेटियों की सुध नहीं ली, बल्कि नई संसद के उद्घाटन में हमारे उत्पीड़क को बुलाया। वह तेज सफेदी वाले चमकदार कपड़ों में फोटो खिंचवा रहा था। उसकी सफेदी हमें चुभ रही थी, मानो कह रही हो कि मैं ही तंत्र हूं। इस चमकदार तंत्र में हमारी जगह कहां हैं। भारत में बेटियों की जगह कहां हैं। क्या हम केवल नारे बनकर या सत्ता में आने भर का एजेंडा बनकर रह गई हैं। ये मेडल अब हमें नहीं चाहिए क्योंकि इन्हें पहनाकर हमें मुखौटा बनाकर केवल अपना प्रचार करता है यह तेज सफेदी वाला तंत्र और फिर हमारा शोषण करता है। हम उस शोषण के खिलाफ बोलें तो हमें जेल में डालने की तैयारी कर लेता है। इन मेडलों को हम गंगा में बहाने जा रहे हैं, क्योंकि वह गंगा मा हैं। जितना पवित्र हम गंगा को मानते हैं उतनी ही पवित्रता से हमने मेहनत कर इन मेडलों को हासिल किया था। ये मेडल सारे देश के लिए ही पवित्र हैं और पवित्र मेडल को रखने की सही जगह पवित्र मां गंगा ही हो सकती है।

Ad Ad
Ad

लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट पाने के लिए -

👉 हमारे समाचार ग्रुप (WhatsApp) से जुड़ें

👉 हमसे फेसबुक पर जुड़ने के लिए पेज़ को लाइक करें

👉 ख़बर सच है से टेलीग्राम (Telegram) पर जुड़ें

👉 हमारे पोर्टल में विज्ञापन एवं समाचार के लिए कृपया हमें [email protected] पर ईमेल करें या +91 97195 66787 पर संपर्क करें।

TAGS: haridwar news Uttrakhand news Wrestlers news Wrestlers will float the medal in the Ganges today against harassment

More Stories

उत्तराखण्ड

सभासद रुबीना सैफी के मल्टी कैम्प में बड़ी संख्या में भागीदारी कर लाभ उठाया जनता ने

ख़बर शेयर करें -

ख़बर शेयर करें -खबर सच है संवाददाता रामनगर। जनता को बेहतर सुविधाएं उपलब्ध कराये जाने के उद्देश्य से पालिका सभासद रुबीना सैफी द्वारा लगाये गये निःशुल्क कैम्प में स्थानीय जनता ने बढ़ चढ़कर भागीदारी करते हुए आयोजित कार्यक्रम का लाभ उठाया।  आंगनबाड़ी केंद्र बम्बाघेर में लगे टीकाकरण कैम्प का शुभारंभ वार्ड सभासद रुबीना सैफी व वरिष्ठ […]

Read More
उत्तराखण्ड

शहीदे आज़म भगत सिंह के जन्मदिन पर छात्र संगठन आइसा द्वारा किया गया गोष्ठी का आयोजन 

ख़बर शेयर करें -

ख़बर शेयर करें –  खबर सच है संवाददाता लालकुआं। ऑल इंडिया स्टूडेंट्स एसोसिएशन (आइसा) द्वारा शहीदे आज़म भगत सिंह भगत सिंह के जन्मदिन 28 सितंबर पर उन्हें याद करते हुए उनके नारे ‘इंकलाब जिंदाबाद’ को बुलंद करने के साथ कार रोड बिंदुखत्ता में “विचार गोष्ठी” का आयोजन किया गया।  “विचार गोष्ठी” को संबोधित करते हुए […]

Read More
उत्तराखण्ड

गंगनहर में नहाते समय डूबे दो युवक, एक को बचाया पुलिस ने दूसरे की तलाश जारी  

ख़बर शेयर करें -

ख़बर शेयर करें -खबर सच है संवाददाता रुड़की। यहां गंगनहर में नहाते समय एक युवक डूब कर लापता हो गया। उसे बचाने के लिए गंगनहर में दूसरा युवक भी कूद पड़ा पुलिस ने एक युवक को बचा लिया जबकि का युवक डूबकर लापता हो गया है। जल पुलिस बोट की मदद से डूबकर लापता युवक की […]

Read More